इन दो शिक्षकों ने बढ़ाया दुनियाभर में देश का मान

0

हमारे देश के दो शिक्षकों ने पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया है| दरअसल, दस लाख डॉलर के वार्षिक ग्लोबल टीचर प्राइज़ की प्रतिस्पर्धा में पूरी दुनिया से 50 शिक्षकों का चुनाव किया गया, जिनमें दो भारतीय भी शामिल हैं| इस बारे में ब्रिटेन के वार्की फाउंडेशन ने लंदन में घोषणा की| दो भारतीय शिक्षकों में से एक दिल्ली की शिक्षिका और एक गुजरात की शिक्षिका हैं|

इस पुरस्कार की घोषणा आने वाले साल के मार्च महीने में दुबई में ‘ग्लोबल एजुकेशन एंड स्किल्स फोरम’ में की जाएगी| दिल्ली के शकरपुर के ‘गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेंकंडरी स्कूल’  की अंग्रेजी शिक्षिका आरती कानूनगो और  गुजरात के ‘लावाड प्राइमरी स्कूल’ की जीवन कौशल शिक्षिका स्वरूप रावल का नाम भी उन 50 शिक्षकों की सूची में शामिल है, जो प्रतिस्पर्धा में शामिल हैं|

इस बारे में आरती कानूनगो ने कहा, “ग्लोबल टीचर प्राइज़ शिक्षकों के प्रयासों और संघर्षों को मान्यता देता है, उन्हें सम्मान देता है, उन मुद्दों को पहचान प्रदान करता है, जिन्हें मैंने वैश्विक आवाज देकर उठाया है|” उन्होंने यह भी बताने का प्रयास किया कि गरीब पृष्ठभूमि के बच्चों खासकर लड़कियों को उत्पीड़न एवं उपेक्षा से बचाया जाए और वे बच्चे भाषा अध्ययन को आत्मसात करें एवं आत्मविश्वास बढ़ा पाएं|

वहीं स्वरूप रावल का कहना है कि अच्छे शिक्षक बच्चों को अच्छा इंसान बनने में मदद कर सकते हैं, वे उनमें प्यार, अनोखापन, जिज्ञासा और कल्पना जगा सकते हैं|  जब हम शिक्षक उनके साथ अपनी जिंदगी जीते हैं, तब हम इन बच्चों को अधिक करुणाशील, स्नेहशील और शायद अधिक जवाबदेह इंसान बनने के लिए प्रेरित कर सकते हैं|”

बारातियों सहित खाई में गिरा वाहन और…

राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

कर्ज़ माफ करने की तैयारी में सरकार

Share.