मेघालय में फंसे मजदूरों को ये बचाएंगे

0

मेघालय के  ईस्ट जयंतिया हिल्स की खदान में पिछले 15 दिनों से 15 नाबालिग मजदूर फंसे (Meghalaya Miners Rescue Day 15) हुए हैं| पहले तो उन्हें निकालने के लिए सरकार द्वारा फुर्ती नहीं दिखाई जा रही थी, लेकिन अब वायुसेना द्वारा वहां पर सहायता पहुंचाई जा रही है| दरअसल, बचाव कार्य में जुटे कर्मिकों ने सरकार से 100 हॉर्सपावर के पाइपों की मांग की थी, लेकिन सरकार द्वारा अभी तक इस बारे में कोई सहायता नहीं पहुंचाई गई है|

क्या मर चुके हैं खदान में फंसे सभी मजदूर?  

जानकारी के अनुसार (Meghalaya Miners Rescue Day 15), शुक्रवार को भुवनेश्‍वर से वायुसेना का एक विमान एनडीआरएफ टीम और आवश्‍यक उपकरण लेकर निकला है| विमान भुवनेश्‍वर से गुवाहाटी पहुंचेगा| वहीं यह भी कहा जा रहा है कि 15 लोगों को निकालने में मदद करने के लिए निजी पंप निर्माता कंपनी भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं| वे स्वेच्छा से पाइपों की सेवा दे रहे हैं|

खदान में फंसे 13 मजदूरों की अहमियत कितनी ?

‘राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल’ द्वारा इस बात का खंडन किया गया है कि खदान में फंसे मजदूरों की मौत हो चुकी है| पुलिस अधीक्षक सिल्वेस्टर मोंगटींगर ने बताया कि किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड की दो टीम मदद के लिए गुरुवार को यहां पहुंची हैं| श्रमिक 370 फुट अवैध खदान में फंसे (Meghalaya Miners Rescue Day 15) हुए हैं| किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड द्वारा भी बयान जारी किया गया| उन्होंने कहा, “मेघालय में फंसे लोगों के लिए हम बेहद चिंतित हैं और हर तरह से मदद को तैयार हैं| हम अपनी सहायता देने के लिए मेघालय सरकार के अधिकारियों के संपर्क में हैं|”

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.