गोवा: सरकार बनाने में जुटी कांग्रेस, राजभवन पहुंचे 14 विधायक

0

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की तबीयत खराब होने के बाद कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जद्दोजहद शुरू कर दी है। लंबे वक्त से बीमार चल रहे सीएम पर्रिकर एम्स में इलाज के लिए भर्ती हैं। इस बीच कांग्रेस ने सरकार न होने के बात कहते हुए गवर्नर से सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की है।

कांग्रेस ने 14 विधायकों ने राजभवन जाकर सरकार बनाने का दावा पेश किया, लेकिन राज्यपाल से उनकी मुलाकात नहीं हो सकी। सरकार बनाने के दावे वाले पत्र को छोड़कर वापस लौट आए। कांग्रेस का कहना है कि उनके पास एक एनसीपी विधायक सहित 17 विधायकों का समर्थन है।

गोवा कांग्रेस के नेता चंद्रकांत कावलेकर ने कहा, हमने राज्यपाल को दो ज्ञापन सौंपे है। उनसे अनुरोध किया है कि 18 महीने के अंदर चुनाव से गुजरने की स्थिति नहीं होना चाहिए। जनता ने हमें पांच वर्ष के लिए चुना है। यदि मौजूदा सरकार कार्य करने में सक्षम नहीं है तो हमें सरकार बनाने का मौका दिया जाए।

कावलेकर ने कहा कि राज्य में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन हमें सरकार बनाने का मौका नहीं दिया गया। इसका परिणाम है कि राज्य में सरकार होते हुए भी नहीं है। इस कारण हमने सरकार बनाने का दावा पेश किया है।

बता दें कि लंबे वक्त से बीमार चल रहे पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को शनिवार को एम्स में भर्ती करवाया गया। उनके बिगड़ते स्वास्थ्य को देख अटकलें लगाई जा रही है कि राज्य में उनकी जगह किसी अन्य को नया मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। मगर भाजपा ने इन अटकलों को खारिज कर दिया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया। उनका कहना है कि राज्य में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं होगा। मनोहर पर्रिकर ही गोवा के मुख्यमंत्री हैं और रहेंगे।

गोवा के राजनीतिक समीकरण

गोवा विधानसभा में कुल 40 सदस्यों में भाजपा के पास कुल 14 विधायक हैं। भाजपा को महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के 3, गोवा फॉरवर्ड पार्टी के 2, 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है। वहीं कांग्रेस और एनसीपी के पास 17 विधायक हैं।

क्या पद छोड़ सकते हैं CM मनोहर पर्रिकर?

Share.