website counter widget

कुंभ 2019 : कुंभ से सन्यासियों की रवानगी

0

संगम नगरी प्रयागराज में आयोजित कुंभ से, वसंत पंचमी के तीसरे और आखिरी शाही स्नान के बाद से, साधुओं और नागाओं ने रवानगी लेना प्रारम्भ कर दिया है। कुंभ मेला क्षेत्र में सोमवार से अखाड़ों में साधू-संतों, नागा संन्यासियों और बैरागियों ने विदाई लेना शुरू कर दिया है। सभी 13 अखाड़ों के नागा साधु अब अगले कुंभ में एक साथ नज़र आएगें।

गौरतलब है कि अब अगला कुंभ साल 2022 में हरिद्वार में आयोजित किया जाना है। प्रयागराज में कुंभ मेला क्षेत्र से साधुओं-संयासियों के खेमे और तंबू अब समिटने लगे हैं। यह कुंभ महाशिवरात्रि तक चलेगा, लेकिन आखिरी शाही स्नान के साथ की सैकड़ों शिविर समेट लिए गए। साधु-सन्यासियों और नागाओं की भीड़ से मेला क्षेत्र में रहने वाली रौनक अब कम पड़ गई है। हालांकि अब यह साधु-संस्यासी काशी में मोक्षदायिनी गंगा के तट पर अगले एक माह तक अपना डेरा जमाएंगे। कुंभ की रौनक और मेले की भव्यता इन्ही साधू-संतों और नागाओं के शिवरों से बढ़ती है। इन शिवरों के उखाड़े जाने के बाद और सन्यासियों की रवानगी से, कुंभ मेला क्षेत्र में सन्नाटा पसर गया है। जहां अभी तक चहल-पहल और काफी धूमधाम मची रहती थी, वहां अब सूना-सूना हो गया है।

सेक्टर 16 में लगे इन नागाओं और तरह-तरह वेश बाना वाले नागाओं के शिविर निकाले जाने लगे है, और उनकी रवानगी की तैयारियां होने लगी हैं। ट्रकों और जीपों सहित कई वाहनों से शिविर का सामान और टेंट दिन भर ढुलता रहा। संगम नगरी प्रयाग से अब इन सभी नागाओं व साधुओं के काशी कूच का सिलसिला आरंभ हो गया। अब काशी में गंगा तट पर यह सभी नागा संन्यासी अगले एक महीने महाशिवरात्रि तक प्रवास करेंगे।

(प्रभात)

 

Kumbh Mela 2019 : बसंत पंचमी पर कुंभ के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेन

 

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.