दुनियाभर के अलग अलग देशों में ऐसे करते है लोग नए साल का आगाज

0

आज से ठीक तीन दिन बाद नया साल 2020 आने को है (Celebrating New Year) और सभी लोग इस दिन का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है नए साल से एक दिन पहले 31 दिसंबर को लोग खूब धूमधाम से बीते हुए साल को अलविदा कहते है और नए साल के स्वागत में जश्न मानते है पार्टियां करते है। बहुत से लोग इस दिन बुरी आदतों को छोड़ने का संकल्प लेते है। और अच्छी आदत को शुरू करने का प्रण लेते है।

Happy New Year 2020 : इन मैसेज और शायरी से अपनों का साल बनाएं खास

आइये जानते हैं कि नववर्ष मनाने  (Celebrating New Year)  की शुरुआत कब और कैसे हुई और इसके संबंध में कौन-सी बातें प्रचलित हैं। ऐसा माना जाता है कि नया साल आज से लगभग 4,000 वर्ष पहले बेबीलोन में मनाया गया था। 1 जनवरी को नया वर्ष ग्रेगोरियन कैलेंडर के आधार पर मनाया जाता है। लेकिन इसकी शुरुआत रोमन कैलेंडर से हुई है। आपको बता दें की रोमन कैलेंडर का नया वर्ष 1 मार्च से शुरू होता है, लेकिन रोमन के प्रसिद्ध सम्राट जूलियस सीजर ने 46 वर्ष ईसा पूर्व में इस कैलेंडर में परिवर्तन किया था। इसमें उन्होंने जुलाई का महीना और इसके बाद अपने भतीजे के नाम पर अगस्त का महीना जोड़ दिया। दुनियाभर में तब से लेकर आज तक नया साल 1 जनवरी को मनाया जाता है।

IPL 2020: चेन्नई या मुंबई, कौन सी टीम है मजबूत?


1-भारत-

(Celebrating New Year)  जैसा की आप सभी जानते है भारत (India) एक धर्मनिरपेक्ष राज्य है यहाँ हर धर्म संप्रदाय के लोग रहते है। तो यहाँ नया साल भी अलग अलग तारीखों में मनाया जाता है और अलग अलग तरीकों से मनाया जाता है भारत में एक बार नहीं पांच बार मनाया जाता है. जी हां भारत में नया साल विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग तिथियों पर मनाया जाता है। ज्यादातर ये तिथियां मार्च और अप्रैल के महीने में पड़ती हैं। पंजाब में नया साल बैशाखी के रूप में 13 अप्रैल को मनाया जाता है। सिख धर्म को मानने वाले इसे नानकशाही कैलेंडर के अनुसार मार्च में होली के दूसरे दिन मनाते हैं। जैन धर्म के लोग नववर्ष को दिवाली के अगले दिन मनाते हैं। यह भगवान महावीर स्वामी की मोक्ष प्राप्ति के अगले दिन से शुरू होता है।
हिन्दू धर्म में नववर्ष का आरंभ चैत्र मास(Celebrating New Year) की शुक्ल प्रतिपदा से माना जाता है। हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार भगवान ब्रह्मा ने इसी दिन सृष्टि की रचना प्रारंभ की थी इसलिए इस दिन से नए साल का आरंभ भी होता है। इस्लामी कैलेंडर के अनुसार मोहर्रम महीने की पहली तारीख को नया साल हिजरी शुरू होता है। इसके अलावा हमारा देश सभी धर्मों का आदर करने वाला है इसलिए अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार जनवरी महीने की पहली तारीख को भी पूरा देश इसे खूब जश्न से मनाता है। भारत में भी नये साल की शुरुआत पूरी धूमधाम के साथ होती है| यहाँ पर युवा नये साल की जोरदार पार्टियाँ आयोजित करते हैं जिनमे शराब से लेकर केक की भी पूरी व्यवस्था होती है| भारत में कुछ लोग नए साल के संकल्प के रूप में कुछ बुरी आदतों जैसे शराब ना पीना, सिगरेट ना पीना, अनैतिक कार्य न करने के अलावा अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना इत्यादि की शपथ भी लेते हैं|

2-चीन –

चीन में 1 महीने पहले से ही नए साल (Celebrating New Year)  की तैयारियां शुरू हो जाती हैं। लोग अपने घरों में साफ-सफाई कर रंग-रोगन करवाते हैं। यहां नए वर्ष पर लाल रंग को बहुत शुभ माना जाता है इसलिए लोग इस दिन लाल रंग की ड्रेस पहनते हैं। और मानते है की ऐसा करने से पूरा साल शुभ रहता है और खुशियों से भरा रहता है। चीनी लोगो का मानना है कि हर रसोई में एक देवता होता है जो उस परिवार के वर्ष भर का लेखा-जोखा ईश्वर के पास पहुचाता है और वापस उसी परिवार में लौट आता है। इसीलिए उसे विदा करना और फिर उसका स्वागत करने के लिए पुरे सप्ताह आतिशबाजी चलती है।

3-दक्षिण अमेरिका (South America) –

दक्षिणी अमेरिका (South America) के देशों में नए साल के दिन लोबिया के साबुत बीज और शलगम की पत्तियां खाने की प्रथा है (Celebrating New Year) । शलगम की पत्तियां रुपए का प्रतीक और लोबिया के बीज पैसों के प्रतीक माने जाते हैं। ऐसा माना जाता है की ऐसा करने से साल भर रुपये पैसों की कमी नहीं होती है और जीवन बहुत ही आनंदनपूर्वक गुजरता है।

4-स्पेन (Spain) –

स्पेन (Spain) में नए वर्ष (Celebrating New Year) की रात को 12 बजे के बाद ताजे अंगूर खाने की परंपरा है। वहां के लोग मानते है की ऐसा करने से लोग सालभर स्वस्थ रहते हैं। और स्वस्थ रहते है तो काम काज बढ़िया होता है धन धान्य से समृद्धि आती है और जीवन खुशियों से भर जाता है।

5-रूस-

नये साल (Celebrating New Year) की आखिरी संध्या पर लोग अपनी ‘इच्छा’ को एक कागज के पन्ने पर लिखते है फिर ‘जलाते’ हैं और फिर जली हुई राख को शैम्पेन के साथ गिलास में डालकर पी जाते है| इससे पीछे यह मान्यता है कि आपकी यह ‘इच्छा’ पूरे साल आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करती रहेगी | और लक्ष्य प्राप्ति के साथ ही आपकी हरा मनोकामना पूर्ण होगी। और आपका जीवन खुशियों से भर जाएगा।

6-जर्मनी (Germany) –

यहाँ पर लोग नये साल (Celebrating New Year)  की आधी रात में अपने नये साल के भविष्य को जानने के लिए चम्मच में लेड (lead) के कुछ टुकड़े पिघलाते हैं और उन्हें ठंडे पानी में फेंक देते है और फिर उन टुकड़ों के आकार की व्याख्या कर अपने नये साल का आंकलन करते हैं |

7-दक्षिणअफ्रीका (South Africa) –

यहाँ पर लोग नये साल (Celebrating New Year)  की रात में अपने घरों से पुराने फर्नीचर और उपकरणों जैसे टीवी और रेडियो, ओवन, कपडेआदिकोखिड़कीसेबाहर फेंक देते हैं | यहाँ पर लोग नये साल की शुरुआत नयी चीजों के साथ करना पसंद करते हैं |

12 Countries Celebrating New Year In Their Own Way

8-जापान (Japan) –

जापान में न्यू ईयर मनाने (Celebrating New Year) का तरीका काफी अनोखा है। यहां पर हर साल 29 दिसम्बर से 3 जनवरी तक न्यू ईयर का जश्न मनाया जाता है, जिसे याबुरी नाम दिया गया है। यहां रात को 12 बजे मंदिरों में 108 बार घटियां बजाई जाती है। यहां शुभकामना कार्ड भेजना बहुत अचछा माना जाता है लोग मानते है की ऐसा करने से लोगों सभी लोगों का साल खुशियों से भरा रहता है।

12 Countries Celebrating New Year In Their Own Way

9 -ब्राजील (Brazil) –

ब्राजील में लोग बुरी आत्माओं से छुटकारा पाने के लिए नए साल (Celebrating New Year) की पूर्व संध्या पर सफेद कपड़े पहनते हैं। साथ ही कुछ लोग नये साल के पहले सप्ताह में प्रत्येक दिन सात सागरों की लहरों में कूदने और उनमें फूल फेंकने की परंपरा को निभाते हैं |

10- फिलीपींस (Philippines) –

यहाँ के लोग नये साल की संध्या पर गोल-गोल बिंदियां वाले कपडे पहनना पसंद करते है और अपनी जेबों में सिक्के रखते हैं| दरअसल यहाँ पर यह ,मान्यता है कि गोल-गोल चीजें सम्पन्नता की प्रतीक होती हैं इसलिए लोग गोल आकार वाली चीजें जैसे संतरा, अनन्नास, अमरुद इत्यादि को नये साल की रात में खाते भी हैं |

12 Countries Celebrating New Year In Their Own Way

11 क्यूबा (Cuba) –

यहाँ पर यह माना जाता है कि यदि आपको यात्रा करने की तीव्र इच्छा (bitten by the travel bug) हो रही है तो आप नये साल की आधी रात को सूटकेस के साथ अपने घर का पूरा चक्कर लगाओ | इसके पीछे यह मान्यता है कि ऐसा करने से आपको पूरे साल यात्रा करने के कई अवसर मिलेंगे | आपको बता दें की यहाँ घूमने के शौक़ीन बहुत से लोग है।

12 Countries Celebrating New Year In Their Own Way

12 डेनमार्क (Denmark)-

इस देश में नये साल में पड़ोसियों से प्यार जताने का बिलकुल ही अजीब तरीका अपनाया जाता है; यहाँ पर लोग नये साल वाली रात में अपने पड़ोसियों के दरवाजों पर प्लेट और गिलास तोड़ते हैं| कुछ लोग तो आधी रात को कुर्सी के टॉप पर खड़े हो जाते हैं और जैसे ही रात्रि के 12 बजते हैं, कुर्सी से कूद जाते हैं | यह नये साल के स्वागत का तरीका है|

Aaj ka rashifal : वृषभ के लिए नई शुरुआत शुभ अवसर लेकर आएगी

-Mradul tripathi

Share.