X
website counter widget

election

अलग अंदाज में मेहमानों का स्वागत…

0

73 views

आजकल शादियों को ख़ास बनाने के लिए कई तरह के एक्सपेरिमेंट किए जाते हैं| शादी में कई तरह की रस्में निभाई जाती हैं| इसी कड़ी में एक शादी में धनुर्विद्या का प्रदर्शन किया गया| रामायण में भगवान राम ने शिव धनुष तोड़कर सीताजी से स्वयंवर रचाया था, लेकिन इस शादी में तीरंदाज़ी में माहिर दुल्हन ने धनुर्विद्या का प्रदर्शन किया|

महाराष्ट्र के शिरडी के पास श्रीरामपुर गांव में अनिल उनवणे की बेटी और धनुर्विद्या में माहिर स्वामिनी की शादी प्रसाद भांगे के साथ हुई| शादी में सात फेरों से पहले लग्न मंडप के स्टेज पर रखे लक्ष्य को निशाना बनाते हुए दुल्हन ने तीरंदाजी का प्रदर्शन किया|

शादी में स्वामिनी के स्टूडेंट्स ने भी अनोखे तरीके से मेहमानों का स्वागत किया| उन्होंने मंडप पर सजे गुब्बारे तीर से फोड़कर मेहमानों का स्वागत किया| इस आयोजन का मकसद धनुर्विद्या खेल का महत्व समझाना था| राज्यस्तर पर तीरंदाजी में अपना हुनर दिखाने वाली स्वामिनी शादी के बाद भी राष्ट्रीय स्तर पर खेलना चाहती हैं|

स्वामिनी का कहना है कि वे शादी में कुछ अलग करना चाहती थी इसलिए मैंने तीरंदाजी का प्रदर्शन कर मेहमानों को अनूठा गिफ्ट दिया| वहीं दुल्हन की कोच शुभांगी दलवी ने कहा कि स्वामिनी के इस प्रयास से मैं खुश हूं| इससे धनुर्विद्या को प्रोत्साहन मिलेगा| स्वामिनी की तीरंदाजी की कला से उनके परिवार वाले भी खुश हैं| दूल्हे का कहना है कि मैं स्वामिनी को आगे भी राष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिए प्रोत्साहित करूंगा| धनुर्विद्या को बढ़ावा मिले इसलिए दोनों मिलकर काम करेंगे|

Share.
1