पेड़ को चढ़ाई सलाइन

0

आमतौर पर आप ने मरीजों को सलाइन चढ़ाते देखा होगा। क्या आप ने कभी पेड़ को सलाइन चढ़ाते हुए देखा है। जी हां, यह सच है। यह हुआ है महबूबनगर जिले के पिल्लियामरी गांव में, जहां करीब 700 साल पुराने बरगद (पिल्लियामरी) के पेड़ को सलाइन लगाई जा रही है। इस बरगद के पेड़ के प्रति दो मीटर की दूरी पर सलाइन चढ़ाई जा रही है।

गत दिसंबर से जनता को पिल्लियामरी को देखने की अनुमति नहीं दी जा रही है। तीन एकड़ में फैले इस पेड़ के एक हिस्से में दीमक लगने के कारण पूरा पेड़ नीचे गिर चुका है। कीड़े को खत्म करने के लिए पहले पेड़ पर रसायन लगाया गया था, जो कारगर साबित नहीं हुआ। अब पेड़ में सलाइन के जरिये कीटनाशक दवाई चढ़ाई जा रही है। आपको बता दें कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक विश्व का सबसे बड़ा बरगद का पेड़ कनिरी के निकट अनंतपुर जिले में स्थित है।

Share.