Tokay Gecko : एक ऐसी छिपकली जो कई गुना बढ़ा देती है सेक्स पावर

0

दनिया में तरह-तरह के जीव-जंतु हैं। कई जीव जंतु तो बेहद ही विचित्र होते हैं वहीं कुछ जीव-जंतु विलुप्त होने की कगार पर हैं। इसी तरह एक विशेष प्रकार की छिपकली को पश्चिम बंगाल में एक अभियान में जब्त किया गया था। इस छिपकली का नाम टोके गेको (Tokay Gecko) है जो एक विशेष प्रकार की प्रजाति है और विलुप्त होने की कगार पर है। इस छिपकली का प्रयोग मर्दानगी बढ़ाने वाली दवाओं में बहुतायत से किया जाता है। कहा जाता है कि इस छिपकली का मांस डायबिटीज, नपुंसकता, एड्स और कैंसर जैसी घातक बीमारियों की दवाओं में प्रयुक्त किया जाता है। इसके कारण इस छिपकली की अत्यधिक मांग है और इस जबरदस्त मांग के कारण ही इसकी कीमत बेहद ज्यादा है।

सेक्स लाइफ खत्म कर सकती हैं ये सेक्स पोजिशंस

टोके गेको (Tokay gecko) एक दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजाति है और अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी बेहद ज्यादा मांग होने से इसकी कीमत भी अत्यधिक है। इस छिपकली की कीमत करोड़ों में है।

एक छिपकली अंतरराष्ट्रीय बाजार में 20 करोड़ रुपए तक में बिकती है। यह छिपकली प्रायः एशिया और पैसिफिक आईलैंड में पाई जाती है। एशिया महाद्वीप की बात की जाए तो यह भारत, भूटान, नेपाल और बांग्लादेश, फिलिपींस और इंडोनेशिया जैसे देशों में पाई जाती है। कई देशों में यह बिल्कुल विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गई है। इस छिपकली के ऊपरी हिस्से में लाल कलर के धब्बे होते हैं और इसकी लम्बाई 35 सेमी. तक होती है। यह छिपकली गिरगिट की तरह होती है, मतलब वातावरण के अनुसार अपना रंग परिवर्तित कर लेती है।

सेक्स के दौरान यह छोटी गलतियां कर सकती हैं मूड खराब

साउथ-ईस्ट एशिया में इस छिपकली (Tokay Gecko) को अच्छी किस्मत और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। वहीं इस छिपकली का प्रयोग अधिकतर घातक बीमारियों की दवाओं को बनाने में किया जाता है।

सेक्स के दौरान पेशाब होती है महसूस तो हो सकते हैं ये कारण

इस छिपकली (Tokay Gecko) की ज्यादा तस्करी होने की वजह से अब यह विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी है। फिलीपींस में तो यह लगभग ख़त्म होने की कगार पर पहुंच गई है। इसकी तस्करी को रोकने और इसके अस्तित्व को बचाने के लिए वहां इसकी तस्करी करते हुए पकड़े जाने पर 12 साल तक की कैद का प्रावधान हैं।

Share.