इस मंदिर के फर्श पर सोने से गर्भवती हो जाती हैं महिलाएं

0

हमारा देश चमत्कारों से भरा पड़ा है। ऐसे चमत्कार, जिनके सामने विज्ञान भी घुटने टेक देता है। आज हम आपको ऐसे एक मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी मान्यता जानकर आप हैरान हो जाएंगे। मंदिर हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला की लड़भडोल तहसील के सिमस गांव में स्थित है। मंदिर को लेकर ऐसी मान्यता है कि यहां फर्श पर सोने से महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं। यहां लोग सदियों से संतान प्राप्ति के लिए आते हैं।

खासतौर पर नवरात्रि में यहां पंजाब, चंडीगढ़ और हरियाणा से महिलाएं संतान प्राप्ति के लिए आती हैं। मंदिर का नाम माता सिमसा का मंदिर है। इस मंदिर की प्रसिद्धि दूर-दूर तक है। मंदिर की इसी विशेषता के कारण इसे संतान प्राप्ति मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर देवी सिमसा का है, जिन्हें संतान-दात्री के नाम से भी जाना जाता है।

बैजनाथ से 25 किलोमीटर दूर स्थित इस मंदिर के चमत्कार से विज्ञान भी हैरान है। फर्श पर सोने से महिलाएं गर्भवती कैसे हो जाती हैं, इस बात को विज्ञान भी साबित नहीं कर पाया है। नवरात्रि के दिनों मे यहां सलिंदरा नाम से विशेष उत्सव का आयोजन किया जाता है। तब अलग-अलग राज्यों से आई महिलाएं मंदिर परिसर में रात में रहती हैं। पूरे नवरात्र तक महिलाएं संतान प्राप्ति के लिए पूजा-पाठ करती हैं और मंदिर के फर्श पर सोती हैं।

मान्यता है कि यदि रात में सोते वक्त किसी महिला को सपने में कंद-मूल या फल मिलते दिखे तो माना जाता है कि माता ने उसे संतान प्राप्ति का आशीर्वाद दे दिया है। ऐसा कहा जाता है कि देवी सिमसा सपने में बता देती हैं कि लड़के का जन्म होगा या लड़की का, लेकिन यदि किसी महिला को नि:संतान रहने का स्वप्न दिखाई दे तो उसे जल्द ही मंदिर से चले जाना होता है। यदि वह ऐसा नहीं करती है तो उसके शरीर पर लाल दाग हो जाते हैं।

Share.