Earth in 2050 : वैज्ञानिकों का दावा 2050 तक ख़त्म हो जाएगी दुनिया

0

आपको हॉलीवुड फिल्म 2012 तो याद ही होगी जिसमें दुनिया का खात्मा दिखाया गया था। इस फिल्म में दिखाया गया था कि किस तरह पूरी धरती जलमग्न हो जाएगी और धरती का विनाश हो जाएगा। इस फिल्म में बताया गया था कि दुनिया का अंत हो जाएगा और पूरी पृथ्वी पर सिर्फ और सिर्फ पानी ही रहेगा। जिस तरह मौजूदा समय में जलवायु परिवर्तन के कारण ग्लोबल ​वार्मिंग में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, उसके अनुसार जल्द ही फिल्म की तरह पूरी धरती का विनाश हो जाएगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि समय रहते यदि इसकी रोकथाम नहीं की गई तो आने वाले 2050 तक धरती से मानव अस्तित्व पूरी तरह से ख़त्म हो जाएगा।

जानिए मुगल रानी जहांआरा के बारे में

हालांकि वैज्ञानिक इस बारे में लगातार शोध कर रहे हैं। लेकिन अब तक किए गए शोध का जो निष्कर्ष निकला है उसने काफी हैरानी में डाल दिया है। यह अब तक का सबसे हैरान करने वाला और सबसे गंभीर शोध माना जा रहा है। इस शोध में वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि किस तरह क्लाइमेट चेंज होने की वजह से साल 2050 तक पृथ्वी से मानव सभ्यता पूरी तरह समाप्त हो सकती है। सुनने वालों को इस बात पर भले ही विश्वास न हो और लगे कि यह काफी बढ़ा-चढ़ा कर बताया जा रहा है। लेकिन इसके सच होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है और यह कल्पना से ज्यादा भी हो सकती है।

इस गांव में प्रतिवर्ष लगता है भूतों का मेला

वहीं इस बारे में ऑस्ट्रेलिया स्थित थिंक टैंक ‘नेशनल सेंटर फॉर क्लाइमेट रिस्टोरेशन ने भी चेतावनी जारी की है। अपनी चेतावनी में नेशनल सेंटर फॉर क्लाइमेट रिस्टोरेशन ने कहा कि धरती पर मानव सभ्यता तीन दशकों से ज्यादा बचेगी। उसका अनुमान है कि साल 2050 तक धरती के तापमान में औसतन 3°c तक की वृद्धि हो जाएगी। इस शोध से निष्कर्ष निकला है कि साल 2050 तक अमेजन ईकोसिस्म नष्ट हो जाएगा। ऐसा महाद्वीप की महान नदियों का पानी भी अधिक मात्रा में सूख जाएगा। समुद्र के स्टार में 0.5 मीटर तक की बढ़ोतरी हो जाएगी। वहीं पूरी धरती का एक तिहाई हिस्सा रेगिस्तान में परिवर्तित हो जाएगा।

वजन कम करने में सहायक Rainbow Diet

Share.