OMG: दवा के कारण महिला की जीभ पर उगे बाल

4

आपने कई अनोखी बातें देखी होगी, जिन्हें पढ़कर या सुनकर हम भौंचक्के रह जाते हैं, लेकिन हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने वाले हैं, जिसको पढ़कर आपकी आंखें खुली की खुली रह जाएंगी। आपने कई एंटीबायोटिक्स का सेवन किया होगा, लेकिन आपने कभी यह पढ़ा कि एंटीबायोटिक के कारण जीभ पर बाल उग गए। यह अजीबोगरीब घटना एक 55 वर्षीय महिला के साथ हुई है, जिसकी जीभ पर बाल उग आए। घटना उस वक्त हुई, जब एक एक्सीडेंट के बाद महिला अपना इलाज कराने के लिए सेंट लुइस अस्पताल पहुंची। इसके बाद वहां दी गई एक दवा के साइड इफेक्ट की वजह से उसकी जीभ पर बाल उग गए।

वॉशिंगटन के सेंट लुइस अस्पताल के डॉक्टर्स के अनुसार, एक्सीडेंट के बाद महिला के दोनों पैरों में काफी चोट आई थी। उसके घावों में इंफेक्शन फैल गया था। इसके बाद इलाज़ के दौरान डॉक्टरों ने उसे इंट्रावीनस मेरोपेनेम और ओरल माइनोसाइक्लाइन नाम की एंटीबायोटिक दवा दी। इस दवा के कारण हफ्तेभर के अंदर महिला की जीभ काली और रोएंदार होने लगी। डॉक्टरों ने जांच की तो पता चला कि माइनोसाइक्लाइन दवा के साइड इफेक्ट की वजह से ऐसा हो रहा है। इस बीमारी को ‘ब्लैक हेयरी टंग’ नाम से जाना जाता है।

महिला के मुंह में समस्या इसलिए हुई क्योंकि एंटीबायोटिक की वजह से उसके मुंह में होने वाले सामान्य बैक्टीरिया में बदलाव हो गया। वहीं यह दिक्कत मुंह की साफ-सफाई न करने, मुंह सूखा रहने, तंबाकू , शराब के सेवन से भी हो सकती है। इस समस्या में जीभ काली, हरी, पीली या सफेद भी हो जाती है। यहां तक कि जीभ पर बाल भी आने लगते हैं। ये परेशानी होने के बाद डॉक्टर्स ने महिला की माइनोसाइक्लाइन दवा बंद कर उसे एक नई दवा दे दी। साथ ही अच्छे से मुंह की साफ-सफाई करने के लिए कहा। सही तरीके से मुंह की सफाई करने के बाद महिला की जीभ फिर से ठीक हो गई।

इस बच्चे से बचकर रहना, यदि इसे ग़ुस्सा आ गया तो….

अच्छे-अच्छे पहलवानों को धूल चटा रही 13 साल की यह पहलवान

इस जंगल में जाते ही कम होता है तनाव….

Share.