website counter widget

ऐसा मंदिर जहां की मूर्तियां करती हैं आपस में बातें

0

हमारी दुनिया कई तरह के रहस्यों से भरी पड़ी है। हमारे आस-पास भी कई ऐसे रहस्य होते हैं जिनके बारे में हमें जानकारी नहीं होती। वैसे तो आपने कई महल, मंदिर और जगह के बारे में तो सुना ही होगा जो किसी न किसी राज़ को खुद में समाहित किए हुए हैं। ऐसा ही एक और मंदिर है ‘माता राज राजेश्वरी’ (Raj Rajeshwari Tripur Sundari Mandir) का। माता राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी का यह रहस्यमयी मंदिर बिहार राज्य में स्थित है। इस मंदिर में प्रधान देवी राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी की मूर्ती के साथ ही बगलामुखी माता, तारा माता, दत्तात्रेय भैरव, बटुक भैरव, अन्नपूर्णा भैरव, काल भैरव व मातंगी भैरव की प्रतिमाएं भी विराजित हैं।

इस भूतिया कुर्सी की सच्चाई जान कर हैरान रह जाएंगे

इनके देवी-देवताओं के साथ माता काली, त्रिपुर भैरवी, धुमावती, तारा, छिन्नमस्ता, षोडशी, मातंगी, कमला, उग्र तारा, भुवनेश्वरी आदि दस महाविद्याओं की भी मूर्तियां भी यहां स्थापित हैं। 400 वर्ष प्राचीन इस मंदिर में विराजित मूर्तियां आपस में बात करती हैं। आज के इस आधुनिकता से भरे इस युग में इस बात पर यक़ीन करना शायद थोड़ा मुश्किल हो लेकिन यह बात बिलकुल ही सच है। इस बात को वैज्ञानिकों ने भी माना है। रात के समय जो भी इस मंदिर के पास से गुजरता है उसे आवाज़ें सुनाई देती हैं जैसे कोई आपस में बातें कर रहा हो और ठहाके लगा रहा हो। हालांकि शुरुआत में तो लोगों को यह वहम लगा लेकिन फिर उन्हें यक़ीन आ गया कि मंदिर में विराजित मूर्तियां ही आपस में बात करती हैं.

एक गांव जहां देखी जाती है पूरी सुहागरात

जब लोगों को इस बात का पता चला तो उन्होंने यह जानने की कोशिश भी की कि आखिर मंदिर में कौन बात करता है। लेकिन जब वे मंदिर में दाखिल होते तो उन्हें किसी की परछाई तक दिखाई नहीं देती। कई बार लोगों को ऐसी आवाज़ों ने चौंकाया। अब यहां के स्थानीय लोगों के लिए यह कोई नया नहीं रहा और उन्हें पूरा यक़ीन है कि मंदिर में जो मूर्तियां विराजित हैं वे ही आपस में बात करती हैं। अब लोग इसे दैवीय चमत्कार मानते हैं। वैज्ञानिकों ने भी इस रहस्य को सुलझाने का प्रयास किया और उनकी एक टीम मंदिर के निरीक्षण के लिए यहां आई। लेकिन वैज्ञानिक भी इस रहस्य को लेकर हैरान रह गए और उन्होंने भी कहा कि ये किसी इंसान की आवाज नहीं हैं। वहीं लोग इस मंदिर को भी बेहद चमत्कारी मानते हैं। कहा जाता है कि यदि कोई व्यक्ति इस मंदिर में सच्ची श्रद्धा से जो भी मनोकामना लेकर आता है उसकी मनोकामना जरूर पूर्ण होती है।

लड़के ने शादी के लिए चुना लड़का तो माता-पिता के उड़े होश

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.