website counter widget

इस जहरीले इंसान पर कोबरा का ज़हर भी बेअसर

0

दुनिया में कई तरह के इंसान है और उनकी विचित्र हरकतों को देख पूरी दुनिया हैरान रह जाती है। दुनिया में कई ऐसे शक्श हैं जो बेहद विचित्र कार्य करते हैं। जैसे किसी शख्स को करंट नहीं लगता तो किसी पर आग का असर नहीं होता। कोई कांच खाता है तो कोई पत्थर। इस तरह के कई शख्स के बारे में आपने जरूर सुना होगा, लेकिन आज हम आपको ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिस पर जहरीले से जहरीले सांप के जहर (Snake Venom) का कोई असर नहीं होता। जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा। दुनिया में एक ऐसा शख्स भी है जिसे पर किंग कोबरा (King Cobra) और ब्लैक माम्बा (Black Mamba) जैसे दुनिया के सबसे जहरीले सांपों के जहर का भी कोई असर नहीं होता। इस शख्स का नाम है स्टीव लुडविन (Steve Ludwin) और यह लंदन (London) के निवासी हैं।

स्टीव लुडविन (Steve Ludwin) ने बताया कि उन्हें जहरीले से जहरीले सांपों के काटने का कोई भी असर नहीं होता। यहां तक कि किंग कोबरा (King Cobra) और ब्लैक माम्बा (Black Mamba) जैसे सबसे जहरीले सांप का जहर (Snake Venom) भी उनके सामने बे-असर साबित होता है। स्टीव बताते हैं कि लगभग 30 साल पहले उन्होंने एक हरे रंग के सांप, जिसे ग्रीन ट्री वाइपर (Green Tree Viper) कहा जाता है, का जहर निकालकर उसे अपने शरीर में इंजेक्ट कर लिया था। इसके बाद उन्हें कोई भी असर नहीं हुआ तो वे लगातार ऐसा करने लगे और फिर धीरे-धीरे उन्हें इसकी आदत हो गई। इसके बाद स्टीव ने कई जहरीले सांपों के जहर को अपने शरीर में इंजेक्ट करना शुरू कर दिया। यहां तक की लुडविन ने अपने शरीर में दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में शुमार ब्लैक माम्बा और कोबरा के जहर को भी अपने शरीर में इंजेक्ट कर डाला। इनके जहर से दुनिया का कोई भी इंसान नहीं बच सकता लेकिन लुडविन पर इसका भी कोई असर नहीं हुआ।

वहीं स्टीव लुडविन (Steve Ludwin) इस बात का दावा करते हैं कि जहर की वजह से उनके शरीर का प्रतिरोधी तंत्र इतना मजबूत हो चुका है कि कोई भी बीमारी उनके पास नहीं फटकती। स्टीव का कहना है कि उन्हें पिछले 15 सालों से एक बार भी जुकाम तक नहीं हुआ। इतना नहीं स्टीव ने बताया कि कई बार उनके साथ खतरनाक हादसे भी हो चुके हैं। एक बार जब वे जहरीले सांपों के जहर (Snake Venom) को अपने शरीर में इंजेक्ट कर रहे थे तो जहर के ओवरडोज़ के कारण उन्हें अस्पताल में दाखिल करवाना पड़ा था। इसके बाद वे लगातार 3 दिनों तक आईसीयू में भर्ती रहे। वहीं स्टीव का कहना है कि जब वे अपने शरीर में जहर इंजेक्ट करते हैं तो उन्हें बेइंतहां दर्द से गुजरना पड़ता है।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.