एक ऐसा गांव, जहां आप बार-बार आना चाहेंगे

0

खूबसूरत पहाड़, खुशनुमा मौसम और हरे-भरे चाय के बाग़ान। एक ऐसा मनोरम दृश्य, जिसे देखते ही मन प्रफुल्लित हो उठे। हम बात कर रहे हैं  दार्जिलिंग की| दार्जिलिंग की चाय बढ़िया क्वालिटी और कम कीमत के लिए भारत में प्रसिद्ध है, लेकिन यहां की खूबसूरती विश्वभर में प्रसिद्द है। यहां का मौसम हमेशा अनुकूल रहता है और यहां के चाय के बागान तो देखते ही बनते हैं। अगर आप दार्जिलिंग जाने का विचार कर रहे हैं तो हम आपको जो जानकारी देने जा रहे है, वह आप के दार्जिलिंग ट्रिप को और अच्छा बना सकती है। यदि आप शांत, भागदौड़ से दूर और नई जगह जाना चाहते हैं तो पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले में स्थित एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है ‘मोंगपोंग’।

दरअसल यह एक पहाड़ी गांव है, जो सिलीगुड़ी से लगभग 27 कि.मी की दूरी पर स्थित है। सिलीगुड़ी से केवल आधे घंटे का सफर आपको दोआर के प्रवेशद्वार मोंगपोंग तक ले जाएगा| यह तीस्ता नदी के तट स्थित बंगाल का एक छोटा सा गांव है। इस स्थल को डूअर्स का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। यहां की प्राकृतिक सुंदरता सैलानियों को बहुत लुभाती है। मोंगपोंग एक शानदार रोमांटिक डेस्टिनेशन है, जो तीस्ता नदी के तट पर स्थित है। इस स्थान में विशाल वन भंडार है| यहां की छोटी दुकानों में जरूरत की चीज़ें अनावृत ही बेची जाती है और वन विभाग द्वारा एक चेक पोस्ट स्थित है। शहर की भागदौड़ से दूर यह एक ऐसी जगह है, जहां आप अपने दोस्तों और परिवारवालों से साथ बार-बार आना चाहेंगे।

यहां आप को खरीदारी करने के लिए भी मार्केट मिल जाएगा। सवोके बाजार, तीस्ता नदी के तट पर स्थित एक छोटा सा बाज़ार है, जहां स्थानीय वस्तुएं बेची जाती हैं। । फॉरेस्ट चेक पोस्ट, कच्चे मकानों और स्थानीय दुकानों के साथ यह एक खूबसूरत पहाड़ी गांव है, जहां आप प्रकृति की अनंत खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं। बड़ा जंगल क्षेत्र होने के कारण यहां कर्इ प्रकार के देशी और प्रवासी पक्षियों को देख सकते हैं। मोंगपोंग की भौगोलिक सजावट कुछ ऐसी है कि आप यहां से हिमालय के शानदार दृश्यों को देख सकते हैं।

मोंगपोंग में देखने लायक जगह

यहां देखने और घूमने-फिरने के लिए कई सारे प्राकृतिक आकर्षण मौजूद हैं। चालसा, मूर्ति, बिंदू, बिरपारा, झलोंग, गोरूमारा राष्ट्रीय उद्यान आदि यहां के निकटवर्ती पर्यटन स्थल हैं। आप यहां के कालिम्पोंग, कुरसिओंग, लावा, लोलेगांव की सैर का विचार भी बना सकते हैं। मोंगपोंग की यात्रा की योजना बनाते समय, पहले ही अपनी योजना को अच्छी तरह से सुनिश्चित कर लें। यहां सरकारी वन्य विश्रामगृह है, लेकिन अक्सर यात्रियों से भरा रहता है। इस विश्रामगृह के अलावा, मोंगपोंग में कई सस्ते छोटे होटल भी हैं। सिलीगुड़ी के लिए या सिलीगुड़ी से नित्य कारों की सेवा उपलब्ध है।

आने का सही समय

वैसे तो पहाड़ी स्थान होने की वजह से यहां का मौसम हमेशा ही अच्छा होता है, लेकिन सर्दियों के बाद का समय मोंगपोंग की सैर के लिए सबसे अच्छा है।  आप यहां साल के किसी भी महीने में सकते हैं, लेकिन यहां आने का उचित समय सितंबर से फरवरी रहेगा।

कैसे पहुंचे

यहां से पास ही दार्जिलिंग बहुत प्रसिद्द और बड़ी जगह है। यहां आने के लिए आप परिवहन के तीनों का साधनों के सहारे पहुंच सकते हैं। यदि आप रेल से हरी-भरी वादियों के बीच होते हुए आना चाहते हैं तो  रेलमार्ग के लिए आप न्यू जलपाईगुड़ी और सिलीगुड़ी रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं।

यदि आप हवाई मार्ग से आना चाहें तो यहां का निकटवर्ती हवाईअड्डा बोगडोगरा एयरपोर्ट है, जहां से आपको नियमित फ्लाइट्स मिल जाएंगी। सड़क मार्ग से भी यहां बेहतर विकल्प है। मोंगपोंग सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह जुड़ा है।

10 हज़ार से कम लागत के 10 पर्यटन स्थल

Share.