WOW : इस टायर में न होगा पंचर न भरनी पड़ेगी हवा

0

वाहन मालिकों को कभी न कभी टायर की वजह से परेशानियों का सामना काना ही पड़ता है। सबसे ज्यादा डर होता है सफर के दौरान टायर के पंचर हो जाने का। देशभर में सबसे ज्यादा सड़क हादसे टायर के फट जाने की वजह से ही होते हैं। वहीं यदि सफर के दौरान टायर पंचर हो जाए तो सबसे बड़ी परेशानी होती है। हालांकि बाजार में इसका समाधान तो आ चुका है। अब आने वाली लगभग सभी गाड़ियों में ट्यूबलेस टायर का इस्तेमाल किया जाता है। यह टायर पंचर होने की स्थिति में भी काम करते हैं और आपको परेशानी से बचा लेते हैं। लेकिन फिर भी इनमे भी पंचर होने का डर तो बना ही रहता है। लेकिन अब आपको इस समस्या से पूरी तरह से निजात दिलाने के लिए दो कंपनियों मिशेलिन और जीएम (General Moters) ने एक ऐसा टायर पेश किया है, जिसमें ना तो हवा डालने की समस्या होगी और न ही उसके पंचर होने का डर रहेगा।

जी हां दो कंपनियों ने मिलकर ऐसा टायर तैयार किया है जिसमें न तो कभी पंचर होगा और न ही उसमें आपको बार-बार हवा चेक करवानी पड़ेगी। इस टायर का नाम अपटिस (UPTIS Tyre) टायर रखा गया है। यह टायर पंचर प्रूफ है। बेहद जल्द इस नए टायर को वाहनों के लिए उपलब्ध करवा दिया जाएगा। इस टायर को जॉइंट रिसर्च एग्रिमेंट के तहत निर्मित किया गया है। फिलहाल इस नई तकनीक से विकसित किए गए इस पंचर प्रूफ टायर के प्रोटोटाइप को मूविन ऑन सम्मिट में पेश किया गया है।

कपनी का लक्ष्य है कि आने वाले साल 2024 तक इन टायर्स को सभी पैसेंजर वाहनों के लिए उपलब्ध कराया जाए। फिलहाल कंपनी द्वारा इस पंचर प्रूफ अपटिस (UPTIS Tyre) की टेस्टिंग की जा रही है। साल के अंत तक इस टायर की टेस्टिंग शेवरोले बोल्ट ईवी के साथ मिलकर असली सड़कों पर की जाएगी।

गौरतलब है कि एयरलेस टायर पर मिशेलिन और जीएम (General Moters) कंपनियां पिछले 5 वर्षों से काम कर रही हैं। साल 2014 के दौरान पहली बार इस टायर को शोकेस किया गया था। इस टायर को कमर्शियल रूप देने और बाजार में उतारने लायक बनाने के लिए कंपनी ने इसमें 50 मिलियन डॉलर का किया था। यह टायर हर तरह के वाहन के अनुरूप बनाया गया है और यह बिल्कुल मेंटेनेंस फ्री है।

Share.