इन तीन होटलों में रहते हैं भूत

0

सभी ने भूत-प्रेतों के कई किस्से सुने और पढ़े होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं कि देश में कई ऐसे होटल भी मौजूद हैं, जिन्हें हॉन्टेड कहा जाता है। हॉन्टेड का मतलब है कि उस होटल में भूत-प्रेतों का साया है। हालांकि आज के दौर में कोई भी इस बात पर यक़ीन नहीं करता, लेकिन कई लोगों का कहना है कि उन्होंने इस बात का अनुभव किया है कि जैसे उस होटल में कोई आत्मा हो। आइए, आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे ही कुछ होटलों के किस्से।

यदि आप भी ऐसी ही किसी हॉन्टेड जगह घूमने जाना चाहते हैं और रोमांच का लुत्फ़ उठाना चाहते हैं तो आप भी इन होटलों में बुकिंग करवा लें।

पश्चिम बंगाल के कालिम्पोंग नामक हिल स्टेशन पर बना ‘मॉर्गन हाऊस’ होटल, ऑस्कर वाइल्ड की प्रसिद्ध किताब ‘द कैंटरविले घोस्ट’ से काफी मिलता-जुलता है। कहा जाता है कि यहां जॉर्ज मॉर्गन अपनी पत्नी के साथ रहा करते थे, लेकिन उनकी पत्नी का स्वर्गवास होने के बाद वे यहां से चले गए। बाद में इसे एक लॉज के रूप में तब्दील कर दिया गया, लेकिन जो भी लोग इस लॉज में ठहरे हैं, उन्होंने शिकायत की है। लोगों का कहना है कि इस लॉज में किसी आत्मा का साया है और लोगों ने वहां किसी औरत के चलने की आवाज़ भी सुनी है।

अब हम बात करते हैं रणभूमि पर बनी रामोजी फिल्मसिटी की। हैदराबाद की इस फिल्मसिटी का निर्माण निजाम सुल्तानों की रणभूमि पर हुआ है। जाहिर है कि जिस भूमि पर इसका निर्माण हुआ है, वहां लाखों लोगों का खून बहा होगा और कई मौतें हुईं होंगी। इस फिल्मसिटी के आसपास बनी होटलों में कई अजीबोगरीब घटनाएं लोगों को हैरानी में डालती आई हैं। यहां कभी बाथरूम के शीशे पर उर्दू में कुछ लिखा होना, खाने की प्लेटों का बिखरा होना या फिर किसी लाइटमैन का ऊंचाई से गिर पड़ना जैसे कई हादसे देखने को मिलते हैं।

इसके बाद बात आती है वीर योद्धाओं की भूमि राजस्थान की। राजस्थान के कोटा में बनी ब्रिजराज भवन होटल का इतिहास भी अंग्रेजों से जुड़ा है। इस भवन में अंग्रेजों के शासनकाल में मेजर चार्ल्स बर्टन नाम का एक ब्रिटिश अधिकारी रहा करता था। इस भवन का निर्माण 19वीं शताब्दी में हुआ था, जिसे बाद में एक होटल में बदल दिया गया। 1857 की क्रान्ति में चार्ल्स बर्टन और उसके परिवार को इसी भवन में मौत के घाट उतार दिया गया था। यहां के लोगों का कहना है कि बर्टन का भूत आज भी इस होटल में भटकता है और आधी रात के बाद यहां कई अनहोनियां भी घटित होती रहती हैं।

Video: रोबोटिक आर्म के जरिये सफल हार्ट सर्जरी

Video: दिव्यांगों का अनोखा न्यूज़ चैनल

देश की पहली बिना इंजन की ‘ट्रेन 18’ ने रचा कीर्तिमान

Share.