website counter widget

Patal Bhuvaneshwar : यह गुफा बताती है कब होगा कलयुग का अंत, पढ़ें इसके बारे में

0

वैसे तो इस दुनिया अद्भुत नज़ारों की कोई कमी नहीं है। वहीं भारत भी इस तरह के कई नज़ारों और रहस्यों से भरा हुआ है (Patal Bhuvaneshwar)। अगर आप भी किसी रहस्यमयी जगह पर घूमने जाना चाहते हैं तो आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं।

आज हम आपको जिस जगह के बारे में बताने जा रहे हैं वह रहस्यमयी तो है ही साथ ही वहां का नज़ारा भी आप मन मोह लेगा तो चलिए जानते हैं उस अद्भुत नज़ारों से भरी रहस्यमयी जगह के बारे में।

photoes : इंटरनेट पर कुछ हैरान करने वाली तस्वीरें वायरल

दुनिया भर में कई गुफाएं विद्यमान हैं उनमे से कई गुफाएं रहस्यों से भरी पड़ी हैं। हमारे देश में भी ऐसी कई गुफाएं है। उन्ही में से एक गुफा है उत्तराखंड की पाताल भुवनेश्वर गुफा (Patal Bhuvaneshwar)। जी हां यह गुफा भी एक बेहद ही रहस्यमयी गुफा है।

वैसे तो उत्तराखंड खूबसूरत वादियों से घिरा है और यहां का मनोरम दृश्य देश से ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों को भी अपनी तरफ आकर्षित करता है।

बेहद रहस्यमयी है ये झील, पानी पीते ही हो जाती है मौत

वहीं इस पाताल भुवनेश्वर गुफा (Patal Bhuvaneshwar Cave Temple) का जिक्र धर्म शास्त्रों में भी मिलता है। कहा जाता है जब भगवान शिव ने क्रोध में आकर भगवन गणेश के सिर को उनके धड़ से अलग कर दिया था तब उन्हें हाथी का सिर लगाया गया था। भगवान गणेश का कटा सिर इसी गुफा में रखा हुआ है।

इस गुफा में कलयुग के अंत का रहस्य भी छुपा हुआ है। दरअसल इस गुफा के 90 फ़ीट अंदर एक विशालकाय पत्थर रखा हुआ जो समय के साथ-साथ बढ़ता जा रहा है।

ननद से होती है शादी, फिर होती है सुहागरात

ऐसी मान्यता है कि जब यह पत्थर ऊपर की ओर बढ़ते हुए दीवार से टकरा जाएगा तब इस कलयुग का अंत हो जाएगा। यह पाताल भुवनेश्वर गुफा (Patal Bhuvaneshwar Cave Temple) उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के गंगोलीहाट कस्बे में स्थित है।

कहते हैं इस गुफा की खोज भगवान शिव के परम भक्त महाराजा ऋतुपर्ण ने की थी। इस गुफा में चारों धाम के दर्शन भी एक साथ हो जाते हैं। इस गुफा में केदारनाथ, बद्रीनाथ एंव अमरनाथ के दर्शन किए जा सकते हैं।

दुनिया में यही सिर्फ एक मात्र गुफा है जिसमे चारों धाम के दर्शन एक साथ हो जाते हैं। कहा जाता है कि भगवान शिव स्वयं यहां आकर पूजा करते थे।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.