फिश स्पा कराना लड़की को पड़ा भारी

0

फिश स्पा एक ऐसी जगह है, जहां मछलियों का इस्तेमाल पैरों से डेड स्किन को हटाने में किया जाता है। आमतौर पर पेडीक्योर में मृत त्वचा निकालने के लिए रेज़र का उपयोग किया जाता है, जबकि फिश पेडीक्योर में यह काम मछली करती है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की विक्टोरिया करथाइस को फिश स्पा करवाना भारी पड़ गया। फिश स्पा करवाने से उसे अपनी अंगुलियां हमेशा के लिए गवांनी पड़ी। हुआ यूं कि करथाइस थाईलैंड घूमने गई थी, वहां पर उसने फिश स्पा कराया। थाइलैंड से लौटने के कुछ दिनों बाद ही उसके पैर की अंगुली में इंफेक्शन हो गया। इसके ट्रीटमेंट के लिए जब वह डॉक्टर के पास गई तो उसे पैर की सारी अंगुलियां कटवानी पड़ी।

डॉक्टर ने जब उसके पैर की जांच की तो पता चला कि फिश स्पा कराने से ऐसा इंफेक्शन हो गया है, जिससे उसकी हड्डियां खराब हो गई। पहले तो डॉक्टर को उनकी बीमारी समझ में नहीं आई। काफी इलाज़ के बाग भी कोई सुधार नहीं के बाद डॉक्टर इस बीमारी का पता लगा पाए। दरअसल 17 साल की आयु में करथाइस के पैर में कांच लग गया था, जिसके कारण उसकी एक अंगुली काटनी पड़ी थी।

इसके बाद थाइलैंड में फिश स्पा कराया तो उसकी कटी हुई अंगुली शेवानेल बैक्टीरिया से संक्रमित हो गई। यह इंफेक्शन धीरे-धीरे बढ़कर पैर के पंजे में फैल गया। काफी इलाज़ के बाद ठीक नहीं होने पर डॉक्टर ने विक्टोरिया करथाइस के पैर की अंगुलियों को काटने का फैसला लिया।

पांचों अंगुली काटने के बाद विक्टोरिया का पैक अब सामान्य है। विक्टोरिया कहती है कि जब मैं फिश स्पा के बारे में सोचती हूं तो मेरा शरीर सिहर जाता है। विक्टोरिया का कहना है कि मेरा पैर अब पूरी तरह स्वस्थ है। मैंने काफी लोगों को गंभीर चोट लगने के बाद जिंदगी बर्बाद कर देने वाली बीमारियों से जूझते हुए देखा है। ऐसे में खुद को भाग्यशाली मानती हूं।

Share.