बदलने लगी हैं कोरोना तस्वीरें, ज़रा कोई इन्हें भी देखे

0

Earlier Assaulted, Now Applauded – Tatpatti Bakhal Indore People Clap For Doctors:

देश में 1700 लोगों पर एक बेड और 19000 पर आईसीयू, कैसे हारेगा कोरोना

– जॉन हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक दुनिया के 185 देशों में कोरोना वायरस के कारण 17,73,358 लोग संक्रमित हैं। इसके कारण अब तक 1,08,702 लोगों की मौत हो चुकी है।
– दुनिया में कोरोना के सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज इस वक्त अमरीका में है। यहां 5,27,111 लोग कोविड-19 से संक्रमित हैं।
– अमरीका में अब तक 20 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमरीका पहला ऐसा देश बन गया है जहां एक दिन में रिकॉर्ड 2000 लोगों की मौत हुई है।
– ब्रिटेन में 24 घंटे में 917 लोगों की मौत हुई है और इसके साथ ही ब्रिटेन में कुल मरने वालों की संख्या 9892 हो गई है।
– जॉन हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक रविवार सवेरे तक इटली में मरने वालों की संख्या 19,468 हो चुकी है।
– भारत में अब तक 8,356 लोग कोरोना संक्रमित हैं, 273 लोगों की मौत कोरोना वायरस संक्रमण से हो चुकी है और कुल 716 लोग ठीक हो चुके हैं।

पुरे स्वास्थ विभाग की पोल खोलता ये वीडियो

कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर मंे हालात खराब हैं। पूरी दुनिया इस वायरस के आगे घुटनों पर है। लेकिन बावजूद इसके भारत में तस्वीरें अब बदलने लगी है। कोरोना वायरस को लेकर कुछ लोगांे का नाम जरुर उछाला गया था। यदि मध्यप्रदेश की हम बात करें तो यहां के कुछ इलाकों की छवि ऐसी बनाई गई थी कि शायद लाॅक डाउन खत्म होने के बाद इन इलाकों की ओर कोई देखना पसंद नहीं करता, लेेकिन अब हालात बदलने लगे हैं।
यहां के बहुचर्चित टाटपट्टी बाखल में आज स्वास्थ विभाग की टीम फिर परीक्षण करने पहुँची। इस इलाके बड़ी तादाद में कोरोना संक्रमित मरीज हैं, जिसके बाद यहाँ से 85 लोगों को क्वारंटाइन करवाया गया है। आज जब स्वास्थ विभाग, जिला प्रशासन और पुलिस यहां पहुंची तो उनका ताली बजाकर स्वागत किया गया।
इस इलाके को पुलिस ने भी सील्ड कर दिया है, छत्रीपुरा थाना के एसएचओ आर.एन. एस. भदौरिया ने बताया कि स्वास्थ विभाग की टीम के साथ पुलिस फोर्स जा रहा है, पहले हुए पथराव के बाद यहां कोई घटना नहीं हुई अब लोग सहयोग कर रहे हैं।शब्द सुनिए लोगांे के ज़रा-

वहीं दूसरी तस्वीर है कि इंदौर के टाट पट्टी बाखल(Tatpatti Bakhal Indore) की फिरोज बी आज कोरोना से स्वस्थ्य होकर अपने घर लौटीं। उन्होंने अपने हाथ जोड़ते हुए , रुंधे गले से डॉक्टरों की सेवा के लिए धन्यवाद कहा। वहीं एक और कोरोना योद्धा असीम खान भी आज डिस्चार्ज हुए। उन्होंने भी कोरोना को हराया साथ ही लोगांे को एक संदेश भी दिया।

जमात वाले इस मां से सीखें, जिसने बेटे को लाने के लिए पेश की मिसाल

क्ुल मिलाकर कोरोना के बीच हो कुछ भी हुआ था, उसके सभी पहलूओं को भी देखना अब जरुरी हो गया है। जिस वक्त कोरोना के चलते अलग-अलग इलाकों में जांच की जा रही थी, तब माहौल के चलते लोग घबरा रहे थे। लोगों के उसी डर का नतीजा था कि वहां इस तरह की घटना हुई। हालांकि घटना की हम भी निंदा करते हैं, लेकिन अब लगने लगा है कि लोगांे को समझ आ रहा है। सहयोग अब बढ़ रहा है। मामले भी कम हो रहे हैं। कुछ दिनों में पूरा देश सहयोग की इसी भावना से कोरोना से जंग में जीत जाएगा।

-Rahul Kumar Tiwari

Share.