घाटी में जारी ठंड का क़हर

3

धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले काश्मीर की हसीन वादियां बर्फ से पूरी तरह ढंक चुकी हैं। काश्मीर की घाटी में जहां-जहां तक नजरें जाती हैं वहां-वहां सिर्फ और सिर्फ सफ़ेद चादर ही दिखाई पड़ती है। जन्नत पर कुदरत का क़हर जारी है। बर्फ की चादर में लिपटा काश्मीर का पारा शून्य से भी कई डिग्री नीचे लुढ़क गया है। घाटी और लद्दाख में मंगलवार को भी शीतलहर ने कोहराम मचाया है। मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि तापमान में और गिरावट आएगी और अगले एक सप्ताह तक मौसम ऐसे ही बना रहेगा।

पहाड़ी इलाकों में शीतलहर के साथ-साथ बर्फबारी भी हो रही है। हाड़ कंपा देने वाली इस ठंड में अलाव भी बेअसर मालूम पड़ रहे हैं। बर्फ़बारी के कारण कई मार्ग भी अवरुद्ध हुए हैं। पहाड़ी इलाकों में होने वाली बर्फ़बारी का असर मैदानी इलाकों पर भी पड़ रहा है। जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में होने वाली बर्फ़बारी से दिल्ली और राजस्थान में भी ठंड का असर पड़ने लगा है। एक ओर शीतलहर से जहां दिल्ली की फिज़ा में ठंड का असर दिखने लगा है वहीं दूसरी ओर रेगिस्तान में भी बर्फीली हवाओं ने तापमान शून्य से भी नीचे पहुंचा दिया है।

आज जम्मू-कश्मीर के कारगिल में न्यूनतम तापमान शून्य से 15.8 डिग्री सेल्सियस नीचे रिकॉर्ड किया गया है। कारगिल के अलावा लेह का तापमान शून्य से 15.1 डिग्री नीचे पहुंच गया है। बर्फ़बारी और शीतलहर के प्रकोप के कारण पहलगाम का पारा शून्य से 7.7 डिग्री नीचे लुढ़क गया। गुलमर्ग में पारा हिमांक बिंदु से 7.6 डिग्री नीचे रिकॉर्ड किया गया, जबकि श्रीनगर में शून्य से 4.6 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज किया गया।

तीन दिन की बर्फबारी से जमा शिमला

बर्फ़बारी से मौसम हुआ सुहाना

Video : जम्‍मू और कश्‍मीर, उत्‍तराखंड ने ओढ़ी बर्फ की चादर

Share.