इस गांव में होती है जहरीले सांप की खेती…

0

आपने किसानों को खेती करते हुए देखा होगा, लेकिन क्या आपने किसी किसान को जीव-जंतु की खेती करते हुए देखा है। शायद नहीं देखा होगा, लेकिन हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां फल-सब्जी नहीं बल्कि सांपों की खेती होती है। भारत के पड़ोसी देश चीन के लोग लाखों की संख्या में ज़हरीले सांपों की खेती करते हैं|

चीन के गांव जिसिकियाओ में लोग सांप की खेती करते है। यहां के किसानों की कमाई का मुख्य स्त्रोत सांपों की खेती है। इस गांव की आबादी लगभग 1000 है। इस गांव में हर व्यक्ति लगभग 30 हजार सांप पालता है। यहां पाले जाने वालों सांपों में कोबरा, अजगर, वाइपर और कई अन्य सांप भी शामिल हैं।

 

जिसिकियाओ गांव के लोगों को सांप से डर भी नहीं लगता, लेकिन सिर्फ फाइव स्टेप स्नेक से यहां के लोग डरते हैं। इस सांप के पीछे दिलचस्प कहानी है। गांव के लोगों का कहना है कि सांप इतना ज़हरीला है कि जिसको भी काट ले, वह पांच कदम चलते ही मर जाता है।

गांव के लोग सांप के मांस और शरीर के अन्य अंगों को बाज़ार में बेचते हैं। सांप के मांस को चीन के लोग बड़े शौक से खाते हैं। साथ ही सांप के शरीर के अंगों का इस्तेमाल दवाइयां बनाने में भी किया जाता है। सांपों का पहला ज़हर निकाल दिया जाता है।

फिर उनके सांपों का सिर काट दिया जाता है। बाद में सांपों को काटकर उनका मांस अलग रख दिया जाता है। सांप के चमड़े को अलग रखकर धूप में सुखाया जाता है। सांप के मांस से दवाई बनाई जाती है और चमड़ों से बैग और अन्य सामान बनाए जाते हैं।

Share.