जैन धर्म के प्रति आकर्षण

0

जैन धर्म का आकर्षण सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि जापान में भी बढ़ता जा रहा है|  गुजरात के जैन तीर्थों में भारी संख्या में जापानी आ रहे हैं और शाकाहार को अपना रहे हैं| जापान के 5 वर्ष के बच्चे से लेकर बूढ़े तक शाकाहार अपना रहे हैं|

बताया जा रहा है कि पिछले पांच वर्षों में हस्तिनापुर, पालिताणा और शंखेश्वर जैन तीर्थों के दर्शन के बाद 1200 जापानी मांसाहारी से शाकाहारी बन गए हैं| ये लोग पालिताणा जाकर दीक्षा महोत्सव में भाग लेकर नवकार मंत्रों का उच्चारण भी सीख रहे हैं|

एक जापानी नागरिक ने बताया कि वे जैन धर्म के नियमों से बहुत प्रभावित हुए हैं| उसने आगे बताया कि पहले उसका परिवार मांसाहारी था, लेकिन जब वह जापान में जैन धर्म का पालन करने वालों के संपर्क में आया, तब से उसने और उसके परिवार ने मांस खाना छोड़ दिया| जापान में नवकार मंत्रों का पाठ भी किया जाता है|

Share.