उत्तर कोरिया के कानून हैं अजब-गजब

0

भारत में रहने वाले हर व्यक्ति को बोलने, रहने और स्वतंत्रता से जीने का अधिकार है, लेकिन उत्तर कोरिया में ऐसे नियम और कानून हैं कि वहां के रहने वाले लोग न अपनी मर्जी से बाल कटवा सकते हैं और न टीवी देख सकते हैं। हम आपको उत्तर कोरिया के ऐसे अजीबोगरीब कानूनों के बारे में बताएंगे, जिन्हें जानकर आप हैरान हो जाएंगे।

– उत्तर कोरिया में टीवी पर सिर्फ तीन चैनल ही दिखाए जाते हैं। वहां लोग टीवी पर वही देखते हैं, जो सरकार उन्हें दिखाती है। उत्तर कोरिया में सिर्फ देश के समाचार ही दिखाए जाते हैं।

– यहां लोग अपने पसंद के हेयर स्टाइल नहीं रख सकते है। सरकार ने 28 तरह की हेयर स्टाइल को मान्यता दी है। इनमें 10 पुरुषों के लिए और 18 महिलाओं के लिए लागू हैं।

– उत्तर कोरिया में आप बाइबिल ना पढ़ सकते हैं और ना अपने घर पर रख सकते हैं।

– उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगप्यांह में सिर्फ सफल, ताकतवर और अमीर लोग रह सकते है। अगर कोई व्यक्ति राजधानी में रहना चाहता है, तो उसे सरकार से अनुमति लेनी पड़ती है।

– यहां अगर कोई व्यक्ति अपराध करता है तो इसकी सज़ा उसके साथ उसके आने वाली तीन पीढ़ियो को भी भुगतनी पड़ती है।

– यहां अखबार भी आसानी से उपलब्ध नहीं होते। बस स्टैंड पर अखबारों की कॉपी लगाई जाती है।

– यहां कोई आम आदमी कार नहीं खरीद सकता। यहां सरकार के अधिकारी और सेना अधिकारी को ही कार रखने की अनुमति है।

– यहां ब्लू जींस पर बैन है।

– यहां चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल की व्यवस्था नहीं है। पुलिसकर्मी इशारों से वाहनों को कंट्रोल करते हैं।

– यहां एक ऐसा नियम है, जिसके चलते लोग 8 जुलाई और 17 दिसंबर को खुशिया नहीं मना सकते।

– यहां हर घर में सरकार नियंत्रित रेडियो लगाए गए हैं। लोग इस रेडियो को बंद नहीं कर सकते हैं।

– बच्चों की स्कूल फीस के अलावा माता-पिता को उनके लिए टेबल-कुर्सी के लिए भी फीस देनी पड़ती है।

Share.