पेड़ पर बनाया चार मंजिला मकान

0

यदि हमसे कोई कहे कि चलो पेड़ पर घर बनाएं तो हम उसे सनकी समझकर उसकी बात टाल देंगे, परंतु सिविल इंजीनियर केपी सिंह ने हकीकत में पेड़ पर घर बना दिया है| पेड़ पर बने इस घर में खिड़की-दरवाजों सहित सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं| घर बनाने में पेड़ या उसकी टहनियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया गया है बल्कि उनका ब‍हुत अच्छा इस्तेमाल किया गया है। टहनियों को टीवी स्टैंड और टेबल के रूप में बना दिया गया है । पेड़ का तना और  उसकी शाखाएं घर की सारी दीवारों से निकलती है।  

दरअसल  केपी सिंह उदयपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने आईआईटी कानपुर से पढ़ाई की है और उदयपुर में एक आम के पेड़ पर अपना चार मंजिला मकान बनाया है| इसके लिए उन्हें हर जगह से प्रशंसा मिल रही है तथा उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हो गया है| उन्होंने जमीन से 9 फ़ीट ऊपर यह चार मंजिला मकान बनाया है| इस घर को लोगों द्वारा हवामहल की भी संज्ञा दी जा रही है|

केपी सिंह ने जब 87 साल पुराने आम के पेड़ पर मकान बनाने की बात कही, तब उन्हें काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। लोगों ने कहा कि ये एक ऐसा सपना है, जो कभी संभव नहीं हो पाएगा। इतने सबके बावजूद सिंह ने हौसला नहीं टूटने दिया और खुद पर विश्वास रखकर पेड़ पर घर बना ही दिया और सच में यह घर किसी भी तरह से महल से कम नहीं है।

Share.