इस तरह करें माता रानी की पूजा, दूर होगी सभी बाधाएं

0

देश में नवरात्रि का पावन पर्व 29 से आरंभ हुआ है और यह 7 अक्टूबर को नवमी के साथ समाप्त हो जाएगा (Durga Ashtami 2019)। हिंदू धर्म में नवरात्रि के पर्व को बहुत ही खास और महत्वपूर्ण माना जाता हैं। इस शक्ति और भक्ति के पर्व में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती हैं। नवरात्रि (Navratri Puja) में माता रानी के नौ स्वरूपों की पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और जीवन की हर समस्या ख़त्म हो जाती है। लेकिन नवरात्रि में पूजा के दौरान कुछ वस्तुओं का ध्यान रखना चाहिए। अगर इन वस्तुओं का ध्यान रखा जाए तो माता रानी को जल्द से जल्द प्रसन्न किया जा सकता है।

Navratri 2019 : भय से मुक्ति दिलाती है मां कालरात्रि

जैसा कि हम सभी जानते हैं नवरात्रि (Durga Ashtami 2019) के प्रत्येक दिन देवी मां के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। देवी के प्रथम स्वरुप के रूप में माता शैलपुत्री की आराधना की जाती है और नवरात्रि के अंतिम दिन सिद्धिदात्रि देवी की उपासना की जाती है। बाकी के नौ दिनों में ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि और महागौरी की आराधना होती है। लेकिन जब आप नवरात्रि के दौरान माता के इन नौ स्वरूपों की आराधना करते हैं तो इनकी पूजा के बाद आरती अवश्य की जानी चाहिए। आरती कपूर से ही करनी चाहिए। आरती करने से माता की कृपा प्राप्त होती है और कपूर से आरती करने पर माता रानी जल्द प्रसन्न होती हैं।

Navratri Sixth Day 2019 : मां कात्यायनी की ये आरती करती है सभी मनोकामना पूर्ण

कपूर के अलावा पूजा (Durga Ashtami 2019) में चोला, फूलों की माला, हार आदि भी होना चाहिए। नवरात्रि के पावन दिनों में घर व दुकान में माता रानी की विधिवत पूजा की जानी चाहिए। वहीं नवरात्रि (Navratri 2019) के पहले दिन ही घर व दुकान के मुख्य द्वार पर सिंदूर से स्वस्तिक बनाना चाहिए। रोजाना सुबह घर के मुख्य द्वार पर रंगोली बनाना चाहिए।

नवरात्रि (Navratri 2019) में कोई भी नया कार्य शुरू करने से पहले देवी मां की पूजा कर उनका आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए। ऐसा करने से नए कार्य में सफलता हासिल होती है। अगर जमीन-जायदाद से जुड़ा कोई मामला हो या फिर कोई कानूनी कार्य हो तो उसे निपटाने से पहले माता रानी से प्रार्थना अवश्य करें। ऐसा करने से सारे बिगड़े कार्य बन जाते हैं।

Navratri 2019 : बुद्धि की देवी स्कंदमाता की पूजा विधि और मंत्र

Prabhat Jain

Share.