इस तरह दूर करें कार्यालय के वास्तु दोष, मिलेगी अपार सफलता

0

हर व्यक्ति के जीवन में वास्तु का बहुत अधिक महत्व होता है। अगर व्यक्ति के घर या ऑफिस में वास्तुदोष हो तो उसे जीवन में कई तरह की परेशानियों से जूझना पड़ता है। वास्तुशास्त्र हर व्यक्ति के जीवन में तरक्की और सुख-शांति का कारक माना जाता है। अगर व्यक्ति वास्तु के अनुरूप ही कार्य करे तो उसे सफल होने से कोई भी नहीं रोक सकता। लेकिन यदि व्यक्ति इस पर ध्यान न दे और ऑफिस के वास्तुदोष को दूर न करे तो उसे कई तरह की समस्याएं घेर लेती हैं और उसे धन संबंधी परेशानी भी उठानी पड़ती हैं।

बुधवार को करें ये खास उपाय तो हर काम होगा सफल

अगर कार्यालय में वास्तुदोष हो तो उसका प्रभाव न सिर्फ बॉस पर पड़ता है बल्कि कर्मचारियों पर भी उसका प्रभाव पड़ता है। वास्तुदोष की वजह से कर्मचारियों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी उठानी पड़ सकती है। वहीं कई बार कंपनी को आर्थिक समस्याओं से भी जूझना पड़ता है। इसलिए आज हमको ऑफिस के वास्तुदोष को दूर करने के उपाय बताने जा रहे हैं। इन उपाय से आप अपने ऑफिस के वास्तुदोष से छुटकारा पा सकते हैं।

अगर किसी ऑफिस में मालिक का केबिन सबसे पहले होता है तो यह वास्तुदोष का कारण माना जाता है। इसलिए किसी भी ऑफिस में मालिक का केबिन सबसे पहले नहीं होना चाहिए। ऑफिस के मुख्य द्वार के पास सहायक का केबिन होना चाहिए ताकि आने वाले व्यक्ति को जानकारी उपलब्ध करवाई जा सके।

भूल कर भी न करें यह गलतियां वरना….

कभी भी ऑफिस के दरवाजों और खिड़कियों को हरे रंग या फिर गहरे रंग से पेंट नहीं करवाना चाहिए। ऑफिस के दरवाजों को हमेशा ही सफ़ेद, क्रीम या फिर पीले जैसे रंगों से ही पेंट करवाना चाहिए। हल्के रंग का प्रयोग बहुत ही शुभ माना जाता है। ऑफिस में पानी की व्यवस्था को हमेशा ही ईशान कोण में रखना चाहिए।

वास्तुशास्त्र में उत्तर दिशा को कुबेर की दिशा कहा गया है इसलिए ऑफिस में कैशियर को हमेशा ही उत्तर की दिशा में बैठाना चाहिए। कार्यालय में कम्प्यूटर, कंट्रोल पैनल और विद्युत उपकरण आदि को हमेशा आग्नेय कोण की दिशा में ही लगवाना चाहिए।

पक्षी को दाना-पानी देने से होने वाले फ़ायदे

Share.