website counter widget

election

Bhai Dooj 2018 : जानें तिलक के शुभ मुहूर्त, करें कुछ ऐसा

0

दीपावली के पांच दिन के त्यौहार में भाई दूज का भी अपना अलग महत्व होता है| रक्षाबंधन के जैसे ही भाईदूज की भी अलग विशेषता होती है| ऐसा कहते हैं कि इस दिन सूर्यपुत्री यमी अर्थात् यमुना ने अपने भाई यम को कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को अपने घर निमन्त्रित कर अपने हाथों से बना स्वादिष्ट भोजन करवाया था इसलिए इस दिन भाई अपनी बहन के घर जाता है और बहनें तिलक करती हैं और उनके लंबे जीवन और उज्ज्वल भविष्य की कामना करती हैं, वहीं भाई भी अपनी बहन को कुछ उपहार देते हैं|

यम का भय दूर

ऐसा कहा जाता है कि भाईदूज के दिन यदि भाई-बहन के घर जाएं और बहन उन्हें भोजन करवाकर माथे पर तिलक करें तो उन्हें यम का भय नहीं सताता है| दीपावली के दो दिन बाद यानी शुक्रवार 9 नवंबर को पूरे देश में धूमधाम से भाईदूज का त्यौहार मनाया जाएगा| आइये जानते हैं कि किस मुहूर्त में करें भाई को टीका|

शुभ मुहूर्त

भाईदूज के दिन दोपहर 1.10 मिनट से लेकर 3.27 मिनट तक तिलक करने का शुभ मुहूर्त है| यह अवधि 2 घंटे 17 मिनट की है|

क्या करें 

भाईदूज के दिन बहनें भाई को अपने घर आमंत्रित करें और उन्हें भोजन कराकर तिलक करें|

भोजन के बाद भाई को पान देना शुभ माना जाता है|

ऐसा कहा जाता है कि इस दिन जो भाई अपने घर पर ही भोजन करता है, उसे दोष लगता है| यदि किसी की बहन न हो तो किसी नदी के तट या गाय को बहन मानकर उनके पास भोजन करना चाहिए|

इस दिन यमुना में स्नान की भी मान्यता है| कहते हैं कि जो भाई-बहन यमुना स्नान करते हैं, उन्हें यमराज का भय नहीं होता एवं उन्हें यमलोक नहीं जाना पड़ता है|

Share.