website counter widget

Pitru Paksha 2019 : घर बैठे करें पितरों का ऑनलाइन पिंडदान

0

देश बेहद ही तेजी से डिजिटल होता जा रहा है। आज के दौर में हर चीज़ ऑनलाइन उपलब्ध है। लोगों को किसी भी चीज़ की जरूरत होती है वे ऑनलाइन ही उसे मंगा लेते हैं (Pitru Paksha 2019)। आज कल चाहे कुछ खरीदना हो या मांगना हो, कहीं आने-जाने के लिए ट्रेन-ऐरोप्लेन की टिकट बुक करनी हो या फिर बाबा महांकाल की भस्म आरती में हिस्सा लेना हो हर चीज़ की बुकिंग ऑनलाइन होने लगी है। अभी हम ऑनलाइन बुकिंग की बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि अभी श्राद्ध पक्ष चल रहा है और लोगों को अपने पूर्वजों का तर्पण करने ‘गया’ या फिर ‘वाराणसी’ जाना पड़ रहा है। हालांकि यहां जाने के लिए टिकट बुकिंग करना तो बेहद आसान है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिन्हें अपने पूर्वजों की श्राद्ध की तिथि न पता हो उन्हें सर्वपितृ अमावस्या को गया में पिंडदान करना चाहिए।

Rohini Nakshatra : रोहिणी नक्षत्र में करने योग्य कार्य

इसलिए सर्वपितृ अमावस्या का बेहद ज्यादा महत्व होता है। वहीं अब सरकार ने इसके लिए भी ई-पिंडदान की सुविधा शुरू कर दी है। बता दें कि इस दिन गया में भारी तादात में श्रद्धालु पहुंचते हैं। लेकिन कुछ लोग कई कारणों की वजह से नहीं पहुंच पाते और अपने पूर्वजों का श्राद्ध नहीं कर पाते। ऐसे में सरकार ने उनके लिए इस सुविधा की शुरुआत की है (Pitru Paksha 2019)। इसके तहत ऑनलाइन बुकिंग करने पर सरकारी पंडे पूर्वज का तर्पण कर देंगे। बिहार के पर्यटन विभाग द्वारा ई-पिंडदान के पैकेज की सुविधा शुरू की गई है। हालांकि इस पर विवाद भी शुरू हो गया है। पर्यटन विभाग के इस पैकेज को तीर्थ पुरोहित (गया का पंडा समाज) धर्म के साथ मजाक बता रहे हैं।

जानिए कैसा रहेगा आपके लिए कृतिका नक्षत्र

गौरतलब है कि ई-पिंडदान के लिए लोगों को पहले से ही ऑनलइन बुकिंग करवानी पड़ेगी। इसके लिए बिहार के पर्यटन विभाग ने एक ख़ास वेबसाइट pitrapakshgaya.com भी तैयार की है। इस वेबसाइट पर ई-पिंडदान का पैकेज उपलब्ध है जो बीती 12 सितंबर से शुरु किया जा चुका है और 28 सिंतबर तक इसके तहत बुकिंग की जा सकती है। पिंडदान की बुकिंग सिर्फ देशवासी ही नहीं बल्कि विदेश में रहने वाले लोग भी कर सकते हैं। ई-पिंडदान की बुकिंग करने के बाद श्रद्धालु घर बैठे ही पितरों का तर्पण और पिंडदान कर सकते हैं। ई-पिंडदान का पैकेज लेने के लिए 19 हजार की दक्षिणा और 950 रुपए GST का भुगतान करना होगा।

Navratri 2019 : जाने नवरात्रि आरंभ एवं नौ स्वरूपों की पूजा तिथि

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.