Lunar Eclipse 2018: ग्रहण का राशियों पर प्रभाव

0

गुरुपूर्णिमा के समय यानी 27 जुलाई की रात को सदी का सबसे बड़ा चंद्रग्रहण 2018 लगने वाला है| इस ग्रहण का प्रभाव करीब चार घंटे तक रहेगा| यह खग्रास चंद्रग्रहण भारत के सभी क्षेत्रों में दृश्यमान होगा| विक्रम संवत 2075 आषाढ़ शुक्ल पक्ष पूर्णिमा को ग्रहण का प्रभाव दिखेगा|

समय – चंद्रग्रहण 27 जुलाई मध्य रात्रि 11 बजकर 54मिनट से शुरू होगा और मोक्ष 28 जुलाई अलसुबह 3 बजकर 50 मिनट पर मिलेगा| अर्थात ग्रहण कुल 3 घंटे 52 मिनिट रहेगा|

सूतक का समय – सूतक का समय ग्रहण  के 9 घंटे पूर्व  अर्थात 27 जुलाई को 2 बजकर 54 मिनट से लगेगा| सूतक लगने के पहले खाद्य पदार्थों में डाब (कुशा) तुलसीपत्र, अवश्य डालकर मंदिर के पट बंद कर दें|

भोजन का समय – सूतक लगने के बाद भोजन नहीं करना चाहिए लेकिन बच्चे ,बूढ़े,बीमार एवं गर्भवती महिलाएं शाम 6 बजकर 54 मिनट तक भोजन कर सकते हैं|

चंद्रग्रहण 2018 का राशियों पर प्रभाव

शुभ प्रभाव – मेष, सिंह, वृश्चिक, और मीन  राशि के जातकों के लिए यह चंद्रग्रहण शुभ प्रभाव दे रहा है|

मध्यम प्रभाव – वृषभ, कर्क, कन्या और धनु राशि के जातकों पर ग्रहण का मध्यम प्रभाव पड़ेगा|

अशुभ प्रभाव –इस चंद्रग्रहण का मिथुन, तुला, मकर और कुम्भ राशि के जातकों पर अशुभ प्रभाव पड़ेगा|

जिन राशियों के लिए अशुभ या मध्यम है उन्हें चंद्र ग्रहण के दर्शन नही करना चाहिए।

इस समय क्या करें क्या न करें 

ग्रहण काल मे किया गया जप,तप,पाठ,लक्षगुणा पुण्य फल प्रदान करता है इस समय इष्ट मंत्र,गुरु मंत्र,या किसी भी आराध्य मंत्र का पुरश्चरण किया जा सकता हैं|

चंद्रग्रहण के समय भोजन करने से बचना चाहिए| वहीं सुई और नुकीली चीजों का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए| गर्भवती महिलाओं को ग्रहण नहीं देखना चाहिए|

जिन जातकों की जन्म कुंडली में चंन्द्रग्रहण योग या चंद्रमा क्रूर ग्रहों के कारण दूषित हो वे सफेद वस्तुओं का दान करें या चंद्रमा के  मंत्रों का जाप अवश्य करें|

मन्त्र – ॐ सों सोमाय नमः ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्रमसे नमः

-पं. ओमप्रकाश शर्मा, इंदौर

ये ख़बरें भी पढ़ें… 

ग्रहण पर बनी ये फिल्में उड़ा देंगी होश

गुरुपूर्णिमा की रात इन राशियों के लिए शुभ

साप्ताहिक भविष्यफल (22 जुलाई से 28 जुलाई 2018 तक)

Share.