नवरात्रि में शनिदेव को ऐसे करें प्रसन्न

0

आज नवरात्रि का दूसरा दिन है । इस दिन माँ के ब्रह्मचारिणी रूप की पूजा की जाती है। दुर्गा माता के दूसरे रूप ब्रह्मचारिणी को ब्राह्मी भी कहा है।

Navratri 2019 : किस दिन किस स्वरूप की आराधना


ब्राह्मी आयु और स्मरण शक्ति को बढ़ाने वाली, रक्त विकारों को नाश करने के साथ-साथ स्वर को मधुर करने वाली औषधि है। ब्राह्मी को सरस्वती माता भी कहा जाता है, क्योंकि यह मन एवं मस्तिष्क में शक्ति प्रदान करती है।

ज्योतिषीय दृष्टि से नवरात्र का हर दिन एक ग्रह की पूजा और उपाय के लिए अतिउपयुक्त माना गया है। आज का दिन शनि देव की प्रर्थना और शांति उपाय का विशेष महत्व है।  आज के दिन शनि देव के नीचे दिए गए मंत्रो का पाठ शनि देव की शान्ति और प्रसन्नता प्राप्त करने में विशेष लाभदायक रहता है –

नवरात्रि में इन चार 4 राशियों पर बरसेगा धन

शनि देव का गायत्री मंत्र –
ऊँ भगभवाय विद्महैं मृत्युरुपाय धीमहि तन्नो शनिः प्रचोद्यात्।

शनि देव का एकाक्षरी मंत्र
ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।

शनि देव का बीज मंत्र –
ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः।

पौराणिक मंत्र –
नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्‌।
छायामार्तण्ड सम्भूतं तं नमामि शनैश्चरम्‌।

ये 8 शुभ संयोग इस नवरात्री को बना रहे हैं बेहद खास

साभार –pictureastrology.com

Share.