शुक्र को प्रसन्न करने के उपाय जानें

0

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जिनकी कुंडली में शुक्र (Shukra Grah Ke Upay ) रुष्ट हों यानी नीच घर में बैठे हो या उनका घर में उनका शत्रु ग्रह भी मौजूद हो तो जातक को शुक्र ग्रह के वैभव का लाभ नहीं मिलता। शुक्र अगर नीच का हो तो जातक के जीवन में सुख का सदा अभाव रहता है।

क्यों धारण की जाती है तांबे की अंगूठी?

वहीं दूसरी ओर जिस जातक की कुंडली में शुक्र ग्रह (Shukra Grah Ke Upay ) उच्च स्थान पर हो और शुभ फल देने वाला हो, उसके जीवन में सुख का आगमन बिना किसी प्रयास के होता है। ऐसे व्यक्ति का जीवन राजा के समान होता है। ऐसे व्यक्ति अपने जीवन में वह सब कुछ पाते हैं जो वह चाहते हैं|

शुक्र वृषभ और तुला राशि के स्वामी हैं लेकिन ये कन्या के लिए नीच है और मीन के लिए उच्च। शुक्र के मित्र राशि शनि और केतु हैं लेकिन सूर्य और चंद्र इसके शत्रु हैं। जबकि मंगल, राहु और गुरु के साथ शुक्र का समभाव संबंध है।

इसलिए आप शुक्र ग्रह को मनाने के उपाय (Shukra Grah Ke Upay ) जानें, जो उनके बुरे प्रभाव को सही कर सकें :

जल्द होना है स्वस्थ तो इन दिशाओं में रखें दवा

  • शुक्र के साथ राहु अगर एक ही घर में हो तो जातक को न धन सुख होगा न स्त्री सुख या पति सुख।
  • यदि शनि नीच का हो और शुक्र के साथ हो तो समझ लें जातक के बुरे दिन ही रहेंगे।
  • यदि आपके अंगूठे में दर्द रहता हो या अंगूठे के आसपास घाव या कोई भी समस्या हो तो शुक्र का प्रभाव अच्छा नहीं होता।
  • शुक्र ग्रह स्किन डिजीज देता है। साथ ही शुक्र गुप्त रोग का कारण बनता है।
  • पत्नी का सम्मान करें। किसी भी स्त्री के साथ अभद्रता कभी न करें। साथ ही पराई स्त्री से दूर रहें।
  • शुक्र नीच का है तो खुद घर की सफाई करें। खुद ही कपड़े आदि धुलें और घर को साफ रखें। साफ सुथरे कपड़े पहनें और स्नान रोज करें।

  • सुगंधित इत्र या सेंट का उपयोग जरूर करें क्योंकि शुक्र को यह बहुत पसंद है।
  • शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा जरूर करें।
  • शुक्रवार के दिन सफेद रंग के कपड़ों का दान गरीबों में करें।
  • जब भी आप भोजन बनाएं कुछ हिस्सा उसमें से गाय, कौवे और कुत्ते को देने के लिए निकालें।
  • दो मोती लें। इसमें एक बहते पानी में शुक्रवार को बहा दें दूसरा जीवन भर अपने पास रखें।
  • ऊ शुं शुक्राय नम: का जाप जरूर करें।
  • मोती, हीरा या ओपल अपने रिंग फिंगर में पहनें।

शुक्रवार को खुद भी सफेद वस्त्र धारण करें और सफेद चीजों को ही खाएं। इससे शुक्र का बुरा प्रकोप शांत होगा।

जाने किसे और कैसे मिलता है तीर्थ यात्रा का फल

Share.