Krishna Janmashtami 2019 : जन्माष्टमी पर जानिए श्रीकृष्ण की अद्भुत कुंडली

0

यूँ तो श्रीकृष्णा स्वयं पर बृम्ह परमेश्वर है और उनका जन्म उनकी ही इच्छा और लीला से हुआ है | किन्तु स्वयं ईश्वर भी जब मनुष्य जन्म लेते है तो सृष्टि के नियमो का पालन करते है और उनकी जन्म कुंडली में नर होते हुए भी नाराणय होने के संकेत मिलते है

Happy Krishna Janmashtami 2019 Whatsapp Status Video : जन्माष्टमी के टॉप व्हाट्सएप स्टेटस

श्रीजन्माष्टमी के अवसर पर आइये जाने श्री कृष्ण की अद्भुत कुंडली –

एक आम व्यक्ति की कुंडली में एक ग्रह भी जब मजबूत होता है तो वह पूरी ज़िन्दगी पार लगा सकता है और सामान्य कुंडली में अक्सर एक ही मुख्य ग्रह मजबूत होता है और बाकि ग्रह बस थोड़ा सहायक का कार्य करते है | किन्तु श्री कृष्णा की दिव्य कुंडली में सभी ग्रह अति बलवान होकर या तो उच्च अवस्था अथवा स्वग्रही होकर विराजमान है |

लग्न जो की व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक गुण दर्शाता है वहाँ पर उच्च के चन्द्रमा विराजमान है | श्री कृष्णा का रूप लावण्य अद्वितीय था ये बात तो सब जानते है और उच्च चंद्र लग्न में ये आसानी से दर्शाता है |

Happy Krishna Janmashtami 2019 Whatsapp Status Images : इन तस्वीरों के साथ दें जन्माष्टमी की शुभकामना

श्रीकृष्ण की सबसे बड़ी ताकत यह थी कि जब हमेशा कर्म करते थे तब भी भावनात्मक रूप से वह इन सब से पूरी तरह अलग रह पाते थे। इस तरह की निष्काम कर्म करने के लिए शनि देव का उच्च राशि में विराजमान होकर शुक्र की मूल त्रिकोण राशि में होने से संभव हो पाया है | यह शनि शुक्र का संयोग रिपु भाव (६) में होने से पूर्ण शत्रुहंता योग भी निर्मित होता है और ये तो सर्वविदित है की श्री कृष्णा कभी शत्रु से पराजित नहीं हुए |  हाँ रणछोड़ अर्थात युद्ध से भागे जरूर थे क्योकि यह कुंडली धर्म विजय के लिए साम दाम दंड भेद का उपयोग करने में बिलकुल नहीं हिचकने का परिचय देती है |

चतुर्थ भाव में काफी शक्तिमान सूर्य का होना राजा तुल्य माता पिता दर्शाता है पर उस पर उच्च के मंगल की दृष्टि जन्म देने वाले माता पिता से दूरी भी दर्शाता है | किन्तु सूर्य और चंद्र के पूर्ण रूप से मजबूत होने से उन्हें पर माता पिता का पूर्ण प्रेम प्राप्त हुआ |

Happy Krishna Janmashtami 2019 Whatsapp Status SMS : इन सदेशों से दें जन्माष्टमी की शुभकामनाएँ

श्री कृष्णा के दिव्य जन्मदिन के दिन उनके आशीर्वाद की कामना के साथ।

साभार –
pictureastrology.com

Share.