गुरुपूर्णिमा की रात इन राशियों के लिए शुभ

0

इस बार गुरुपूर्णिमा पर दुर्लभ नज़ारा दिखने वाला है| इस दिन सदी का सबसे बड़ा चंद्रग्रहण लगने वाला है| पूरी तरह से यह लाल रंग का होगा, जो पूरे भारत में देखा जा सकेगा| वैज्ञानिकों के अनुसार ‘रेड मून’ को खुली आंखों से भी देखा जा सकता है|

चंद्रग्रहण तब होता है, जब सूरज और चांद के मध्य में पृथ्वी आ जाती है| इसके बाद पृथ्वी की वजह से चांद पर पड़ने वाली सूरज की रोशनी रुक जाती है, इसी को चंद्रग्रहण कहते हैं| भारत के अलावा यह ग्रहण दक्षिण अमरीका, अफ्रीका, पश्चिम एशिया और मध्य एशिया के कुछ हिस्सों में भी दिखेगा| इस दिन गुरुपूर्णिमा का पूजन सूतक से पहले करना फलदायी रहेगा|

चंद्रग्रहण 27 जुलाई को रात 11 बजकर 54 मिनट  से शुरू होगा, जो 3 बजकर 49 मिनट पर समाप्त हो जाएगा| इसकी कुल 3 घंटे 55 मिनट की अवधि रहेगी| ग्रहण कुछ राशि के जातकों के लिए शुभ फल देगा| मेष, सिंह, वृश्चिक व मीन राशि के जातकों के लिए ग्रहण शुभ फलदायी है|

Share.