भारत की इन जगहों पर होती है रावण की पूजा…

0

भारत में रावण का पुतला जलाया जाता है और भगवान राम की पूजा की जाती है, लेकिन भारत में ऐसी कई जगहें हैं, जहां भगवान राम की नहीं बल्कि रावण की पूजा होती है। उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, और राजस्थान के ऐसे कुछ स्थानों पर रावण की पूजा होती है। आइए जानते हैं आखिर क्यों भारत के इन स्थानों पर रावण की पूजा की जाती है।

उत्तरप्रदेश

उत्तरप्रदेश के कानपुर में रावण का प्रसिद्ध दशानन मंदिर है। कानपुर के शिवाला इलाके के दशानन मंदिर में शक्ति के प्रतीक के रूप में रावण की पूजा होती है। इस मंदिर के दरवाजे दशहरे की सुबह ही खोले जाते हैं। फिर रावण की प्रतिमा का श्रृंगार और आरती की जाती है। दशहरे पर रावण के दर्शन के लिए मंदिर में भक्तों की भीड़ लगी रहती है और शाम को मंदिर के दरवाजे एक वर्ष के लिए बंद कर दिए जाते हैं।

राजस्थान

जोधपुर जिले के मंदोदरी नाम के क्षेत्र को रावण और मंदोदरी का विवाह स्थल माना जाता है। जोधपुर में रावण और मन्दोदरी के विवाहस्थल पर आज भी रावण की चवरी नामक एक छतरी मौजूद है। शहर के चांदपोल क्षेत्र में रावण का मंदिर बनाया गया है।

मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश के विदिशा जिले में एक गांव है, जहां रावण का मंदिर बना हुआ है। प्रदेश के मंदसौर जिले में भी रावण की पूजा होती है। मंदसौर नगर के खानपुरा क्षेत्र में रावण रूण्डी नाम के स्थान पर रावण की विशाल मूर्ति है। मान्यताओं के अनुसार रावण मंदसौर का दामाद था।

कर्नाटक

कर्नाटक के मंडला जिले के मालवल्ली तहसील में रावण का एक मंदिर है। यहां लोग रावण की पूजा करते हैं और जुलूस भी निकालते हैं। यहां लोग रावण की पूजा इसलिए करते हैं क्योंकि वह भगवान शिव का परम भक्त था।

Share.