ये तोहफे न दें और न ही लें

0

जीवन में उपहारों का लेन-देन चलता रहता है| उपहार देने और लेने की ख़ुशी ही असीम होती है| यह जानना भी जरूरी है कि उपहार देने वालों की नीयत कैसी होती है| उपहार में आपको कुछ ऐसा भी मिल सकता है, जो आपकी खुशियों को ग्रहण लगा सकता है| आज हम आपको कुछ ऐसे ही उपहारों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें न ही लेना चाहिए और न ही किसी को देना चाहिए|

रुमाल

रुमाल उपहार में देना अशुभ माना जाता है| कहते हैं जिसे रुमाल तोहफे में दिया जाता है, उसके जीवन में कष्ट बढ़ता है|

हिंसक जानवरों की मूर्ति

हिंसक जानवरों जैसे शेर, बाघ, चीता की तस्वीर या मूर्ति उपहार में लेना देना अशुभ माना जाता है|

डूबते हुए जहाज की मूर्ति

डूबते हुए जहाज की मूर्ति उपहार में देना भी अशुभ है, ऐसी मूर्ति को घर में नहीं रखना चाहिए| इससे आर्थिक नुकसान होता है|

चाकू-छुरी

चाकू-छुरी न तो किसी को उपहार में देना चाहिए न ही किसी से उपहार में लेना चाहिए| यदि कभी उपहार में धारदार वस्तुएं मिलती है तो भी उसे घर में नहीं रखना चाहिए| ऐसा माना जाता है कि धारदार वस्तु उपहार में देने परिवार में कलह होती है|

काले वस्त्र

कभी भी किसी को काले कपड़े उपहार में नहीं देना चाहिए, यह भी अपशगुन माना जाता है| काले कपड़े देने से दुःख, कष्ट और पीड़ा बढ़ती है| शादी के एक वर्ष तक काले वस्त्र धारण करना भी शुभ नहीं माना जाता है|

जूते

जूते को जुदाई का प्रतीक माना जाता है| आप जिसे भी जूते भेंट करते हैं उससे आप बिछड़ सकते हैं| प्रेमियों को तो इसे एक दूसरे को उपहार स्वरूप जूते बिल्कुल भी नहीं देना चाहिए इससे दोनों की राहें अलग हो जाती हैं ऐसी मान्यता है|

घड़ी

बहुत से लोग घड़ी भी उपहार में देते हैं जबकि घड़ी उपहार में देना जीवन में प्रगति को रोकना माना जाता है|

Share.