website counter widget

दीपावली विशेष : ये उपहार देना या लेना होता है अशुभ

0

हिन्दू धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार दिवाली है। दीपावली (Diwali Gifts) में कुछ ही दिनों का समय शेष रह गया है। दीवाली की तैयारियां महीनों पहले से ही शुरू हो जाती हैं। इस बार 27 अक्टूबर को पूरे देश में दिवाली का पर्व मनाया जाएगा। लोगों ने घरों में साफ़-सफाई और रंग-रोगन करना शुरू कर दिया है। ऐसी मान्यता है कि दिवाली (Diwali 2019) पर घर को साफ़-स्वच्छ रखना चाहिए तभी मां लक्ष्मी का आगमन होता है। इसके अलावा दिवाली पर सभी अपने रिश्तेदारों, पड़ोसियों, सगे-संबंधियों और दोस्तों को उपहार भी देते हैं। यह परम्परा काफी वर्षों से चली आ रही है। लेकिन कई बार लोग अनजाने में ऐसे उपहार भेंट कर देते हैं जिसका नकारात्मक प्रभाव दोनों पर पड़ता है। जो उस उपहार को देता है उस पर भी और जो उसे स्वीकार करता है उस पर भी।

Karwa Chauth 2019 : व्रत का पालन करते हुए ध्यान रखें ये बातें वरना होगा अशुभ

दरअसल धर्म-शास्त्रों में कुछ उपहारों को वर्जित व अशुभ बताया गया है। ऐसे उपहारों को ना तो भेंट करना चाहिए न ही उन्हें लेना चाहिए। हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार कुरुक्षेत्र में भगवान श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन को दिए जा रहे गीता का उपदेश वाला चित्र न तो किसी को उपहार स्वरूप भेंट करना चाहिए (Diwali Gifts)। और न ही उसे अपने घर की दीवार पर लगाना चाहिए। ऐसा करना धर्म शास्त्रों में बेहद अशुभ माना गया है। अगर यह चित्र घर में लगाया जाए या फिर किसी को उपहार में दिया जाए तो इसका नकारात्मक प्रभाव दोनों पर पड़ता है।

Today Rashifal 11 October 2019 : इन जातकों के लिए खास है आज का दिन

दिवाली (Diwali 2019) के समय ज्यादातर लोग एक-दूसरे को उपहार स्वरुप देवी-देवताओं के चित्र भेंट करते हैं। लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि देवताओं के उग्र स्वरुप वाला या फिर युद्ध वाला चित्र कभी भेंट नहीं करना चाहिए (Diwali Gifts)। इसके अलावा रामायण, महाभारत, ग्रहण, जंगली जानवर, अकाल और सूर्यास्त की तस्वीरों को कभी भी उपहार स्वरुप नहीं देना चाहिए। अगर कोई आपको ऐसे उपहार दे तो उसे स्वीकार न करें। वहीं अगर महालक्ष्मी की फोटो उपहार स्वरुप देना चाहते हैं तो हमेशा बैठी हुई मां लक्ष्मी की फोटो ही उपहार स्वरुप भेंट करना चाहिए।

पी चिदंबरम की जेल पर ग्रहों का खेल

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.