Sagittarius : जानिए कैसे होते हैं धनु राशि के लोग

0

धनु राशि चक्र की 9वी राशि है| इसका स्वामी सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति है, जिसे देवगुरु भी कहा जाता है| गुरु ग्रह के आधिपत्य के कारण ये राशि ज्ञान और संस्कृति की प्रतीक मानी जाती है| धर्म और सामाजिक कार्यो में रुचि इस राशि का मूलभूत स्वभाव है| पुराने रीति रीवाजो का सम्मान और साथ ही वैज्ञानिक सोच के साथ उनका समागम करना धनु राशि की विशेषता है|

आइये आज जानें Scorpio राशि के कुछ विशेष गुण

धनु राशि एक बहिर्मुखी राशि है| गुरु के आधिपत्य के कारण इस राशि के जातकों में समाज में नाम करने की खास इच्छा होती है| ये बढ़ चढ़कर अपने सामाजिक दायित्वों को निभाने के लिए तैयार रहते हैं| अक्सर उम्र के उत्तरार्ध में धनु राशि के लोग लम्बी तीर्थ यात्रा, मंदिरो का जीर्णोद्धार और अन्य धार्मिक कार्यो में समय व्यतीत करते पाए जाते हैं| अपनी कमाई का बढ़ा हिस्सा इन कार्यो में खर्च करने में उन्हें बिलकुल हिचकिचाहट नहीं होती|

श्राद्ध पक्ष में पर्वत के इस पत्थर से आती हैं प्रेतात्माएं

इस राशि का चिन्ह मानव के सिर और घोड़े के बदन वाले विशेष प्राणी को माना जाता है| इसलिए इस राशि में सौम्य मानवीय गुणों के साथ-साथ शक्ति का भी पूर्ण संतुलन माना जाता है| इस राशि के पहले भाग में जन्म लेने वाले जातक धर्म और उच्च स्तरीय शैक्षणिक गतिविधियों में रुचि रखते हैं| वहीं इस राशि के उत्तरार्द्ध के जातक अक्सर सेना, पुलिस, खेल और शरीरिक गतिविधियों में ज्यादा रुचि रखते हैं|

Shradh 2019 Dates : श्राद्ध का महत्व व महत्वपूर्ण तिथि

Share.