website counter widget

हनी ट्रैप मामले में हाईकोर्ट ने SIT को लगाई फटकार

0

मध्यप्रदेश के हाई प्रोफाइल केस हनी ट्रैप(Honey Trap Case) की जांच SIT के द्वारा की जा रही है इस मांमले में सुनवाई हाईकोर्ट(High Court) की इंदौर खंडपीठ में चल रही है. कोर्ट को जांच संतोषजनक न लगने और बार बार एसआईटी के चीफ के बदले जाने के कारण कोर्ट ने SIT को फटकार लगाई है।

जानकारी के अनुसार हाईकोर्ट ने हनी ट्रैप मामले की जांच कर रही एसआईटी के चीफ (SIT Chief) को बार-बार बदले जाने पर गृह सचिव (home Secretary) से इस बदलाव का कारण जानने के लिए बंद लिफाफे में जवाब माँगा था। सोमवार को एसआईटी चीफ राजेंद्र कुमार ने ये जवाब कोर्ट के सामने पेश किया . लेकिन रिपोर्ट में अधूरी जानकारी और संतोषजनक कारण नहीं होने की वजह से हाइकोर्ट ने फटकार लगाते हुए निर्देश दिया कि अब उसकी अनुमति के बिना एसआईटी में शामिल किसी भी अधिकारी का तबादला नहीं किया जा सकता, ना ही एसआईटी की जांच से हटाया जा सकता है.

हाइकोर्ट के सख्त निर्देशों के बाद अब पूरी जांच कोर्ट की नजर में की जाएगी. वरिष्ठ वकील मनोहर दलाल के अनुसार मामले की अगली सुनवाई दो दिसंबर को होनी तय हुई है, एसआईटी को इन्वेस्टिगेशन स्टेटस रिपोर्ट जमा करनी होगी. साथ ही अब एसआईटी में कोई परिवर्तन नहीं किया जाये, एसआईटी में नियुक्त मौजूदा अधिकारियों का हाईकोर्ट की अनुमति के बिना तबादला नहीं किया जा सकेगा.

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.