website counter widget

शंकर लालवानी ने मोदी-शाह की बात नहीं मानी

0

इंदौर: इन दिनों देशभर में भाजपा का डंका बज रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra modi) अपने कुशल नेतृत्व के लिए देश ही नहीं अपितु दुनियाभर में जाने जाते है। ऐसे में उनकी हर बात का पालन आदरपूर्वक उनकी पार्टी के सभी नेता करते है। लेकिन हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया जिसमे नरेंद्र मोदी की बात का मान नहीं रखा गया। पीएम मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150 वी जयंती पर देशभर की भाजपा प्रदेश इकाई को निर्देश दिया था की विधानसभा स्तर पर हर जिलों में सांसद को हारे और जीते विधायकों मंडल पदाधिकारियों और अन्य पदाधिकारियों के साथ 10 किलोमीटर की संकल्प यात्रा करनी है.

लेकिन इंदौर जिले के सांसद शंकर लालवानी इस निर्देश में ढिलाई करते हुए दिखे है. और लगता है इस गांधी संकल्प यात्रा को बड़े आराम से पूरा करना चाहते है। वही कुछ लोगों का कहना है की शंकर लालवानी का पूरा ध्यान अभी सिंधी समाज में लगा हुआ है। और पाकिस्तान में हो रहे सिंधी समाज के साथ गड़बड़ी पर पूरा ध्यान है। पाकिस्तान से भारत आये शरणार्थियों को भारतीय बनाने में लगे है। इतना ही नहीं लालवानी का ध्यान सिंधी समाज की सहकारी संस्था पर भी है। जिसमे अपने भाई प्रकाश लालवानी को अध्यक्ष बनाने के लिए जवाहर मंगवानी से इस्तीफा लिया था। और बाद में इसमें वो कामयाब भी हो गए और भाई को अध्यक्ष बनवा दिया।

विधानसभा क्रमांक 4 में जरूर 10 किलोमीटर की यात्रा उन्होंने किनारे पर कदम साहब की बग्घी के माध्यम अपने समर्थकों को मजबूत करने और पुरानी क्षेत्रीय विधायक मालिनी गौड़ के समर्थको को कमजोर के उदेश्य से शुरू कर दी है। जो केवल अपने निजी फायदे के लिए किया जा रहा है क्योकि गाँधी जयंती को बीते हुए 10 दिन हो चुके है। अब पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता के विधानसभा क्षेत्र में गाँधी संकल्प योजना का आयोजन कल से लालवानी करेंगे।

(संदर्भ: यह जानकारी एक दैनिक अखबार से ली गई है)

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.