X

मप्र में ये हैं डाकघरों के हाल

0

119 views

देश में स्वच्छ भारत अभियान जोर-शोर से चलाया जा रहा है| सरकार गांव से लेकर शहरों तक सभी जगह लोगों को शौचालय के प्रति जागरूक कर रही है| इसके लिए अभी तक सरकार ने अरबों रुपए खर्च कर दिए हैं, लेकिन अभी तक कई सरकारी विभाग ऐसे हैं, जहां शौचालय का निर्माण नहीं हुआ है|

मध्यप्रदेश में ऐसे कई डाकघर हैं, जहां विकलांगों और महिलाओं के लिए अलग से शौचालय तो दूर सामान्य शौचालय भी नहीं बनाए गए हैं| इसमें बड़ी बात तो यह है कि सरकार भी अभी तक इस बात से अनजान थी| अब सरकार ने ऐसे डाकघरों में जहां शौचालय नहीं हैं, वहां शौचालय बनाने का काम शुरू किया है|

मप्र में छोटे-बड़े 1017 डाकघर हैं, लेकिन ज्यादातर में शौचालय की सुविधा नहीं हैं| डाक विभाग अपने निजी भवनों से इसकी शुरुआत कर रहा है| मप्र में डाक विभाग ने 22 शहरों के हेड पोस्ट ऑफिस में दिव्यांगों के लिए शौचालय बनाने का निर्णय लिया है|

Share.
31