website counter widget

World Hypertension Day 2019 : हाइपरटेंशन से सावधान

0

आज वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे (World Hypertension Day 2019) है | इसी मौके पर हम आज आपको इस बीमारी के प्रति जागरूक करने के लिए यह खबर साँझा कर रहे है| हर साल 17 मई को हाइपरटेंशन ( hypertension ) यानी हाई ब्लड प्रेशर डे मनाया जाता है जो जागरूकता फ़ैलाने के लक्ष्य को ध्यान में रख कर ही मनाया जाता है| तेजी से बढ़ रही इस बीमारी को आम समस्या के रूप में ट्रीट किया जा रहा है लेकिन यह एक बड़ी मुश्किल भी हो सकती है |

हाइपरटेंशन ( hypertension ) बीमारी के लक्षण जल्दी से नहीं दिखते और यह किसी तरह की चेतावनी भी नहीं देती | इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता हैं| आज हर 3 में से 1 व्यक्ति हाइपरटेंशन का शिकार है| एक अनुमान के मुताबिक 2020 तक शहरी इलाकों में हाइपरटेंशन की घटनाएं 20 से 40% तक और ग्रामीण क्षेत्रों में 12 से 17% तक होने की संभावना है|इस बीमारी से ग्रस्त 90 प्रतिशत रोगियों को हाइपरटेंशन के कारण के बारे में जानकारी नहीं है| हाइपरटेंशन ( hypertension ) कुछ कारण शारीरिक और कुछ मानसिक होते हैं|

तेजी से बढ़ते कैंसर की रोकथाम के कुछ उपाय


हाइपरटेंशन ( hypertension ) की वजह से ब्रेन स्ट्रोक होने का खतरा दोगुना हो जाता है| एक अनुमान के अनुसार हर पांचवा व्यक्ति रक्त चाप से ग्रस्त है| डॉक्टर्स के अनुसार ऊपर का ब्लड प्रेशर हर 10 एमएम हीमोग्राम बढ़ने से इस्कीमिक स्ट्रोक (नस ब्लड का थक्का जमना) का खतरा करीब 28 प्रतिशत तथा हैमेरेजिक स्ट्रोक (नस फटना) का खतरा करीब 38 प्रतिशत बढ़ता है|

डॉक्टर और मेडिकल एक्सपर्ट्स की मानें तो हाई ब्लड प्रेशर यानी उच्च रक्तचाप को कंट्रोल करना मुश्किल नहीं हैं| हेल्दी लाइफस्टाइल और खानपान की आदतों में सुधार कर आप इसे नियंत्रित कर सकते हैं| इस बीमारी को कंट्रोल करना इसलिए भी जरूरी क्योंकि अगर बीपी कंट्रोल में न रहे तो दिल से जुड़ी बीमारियां और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कई गुना बढ़ जाता है|

कहीं गंभीर बीमारी का कारण न बन जाए मांसपेशियों का दर्द


हाइपरटेंशन ( hypertension ) के लक्षण
हाइपरटेंशन में हार्ट, किडनी व शरीर के अन्य अंग काम करना बंद कर सकते हैं|
इसके अलावा हाई बीपी के कारण आंखों पर भी असर पड़ता है|
हाइपरटेंशन में रक्तचाप 140 के पार पहुंच जाता है|
जानकारी का आभाव बड़ा कारण | अधिकतर लोगों को तो यह भी मालूम नहीं है कि उन्हें उच्च रक्तचाप की शिकायत है लिहाजा बीमारी के गंभीर होने की आशंका बढ़ जाती है|
हाइपरटेंशन का मुख्य कारण एथेरोक्लेरोसिस है| हृदय से शरीर के बाकी हिस्सों में ऑक्‍सिजन और पोषक तत्व पहुंचाने वाली रक्त वाहिनियों में कलेस्ट्रॉल, वसा पदार्थ, कोशिकाओं का अनुपयोगी पदार्थ, कैल्शियम और फाइब्रिन से प्लाक का निर्माण हो जाता है जिससे एथेरोक्लेरोसिस नामक बीमारी हो जाती है|इससे शरीर में रक्तचाप का स्तर बढ़ जाता है जो हाइपरटेंशन का कारण बनता है|

मौसम में बदलाव का स्वास्थ्य पर पड़ रहा है असर, तो अपनाएं यह उपाये

इन वजहों से बढ़ता है ब्लड प्रेशर
कलेस्ट्रॉल का बढ़ना
मोटापा
आनुवांशिक कारण
ज्यादा मांसाहार का सेवन
ज्यादा तैलीय भोजन करना
शराब

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.