त्रिफला के फायदे जानकर हैरान हो जाएंगे आप

0

आयुर्वेद में त्रिफला को बहुत गुणकारी माना गया है| इसमें पाए जाने वाले गुण सिर्फ पेट के लिए नहीं बल्कि शरीर की कई बीमारियों के लिए लाभदायक होते हैं| वैसे तो चिकित्सकों की यह भी सलाह रहती है कि त्रिफला का सेवन बिना चिकित्सीय परामर्श के नहीं करना चाहिए|

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए एवं कमजोरी दूर करें

त्रिफला के सेवन से शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है| यदि आप भी दुर्बलता के शिकार हैं तो नियमित इसका सेवन शुरू कर दें| यह शारीरिक दुर्बलला के लिए रामबाण साबित होता है| दुर्बलता को कम करने के लिए त्रिफला को हरड़, बहेड़ा, आंवला, घी और शक्कर को मिलाकर खाना चाहिए|

याद्दाश्त बढ़ाएं

त्रिफला के सेवन करने वाले व्यक्ति की याद्दाश्त भी अन्य लोगों के मुकाबले तेज होती है|

हाई ब्लडप्रेशर में राहत

इसके सेवन से हृदयरोग, मधुमेह और उच्च रक्तचाप में भी आराम मिलता है| यदि आप भी इन बीमारियों के शिकार हैं तो प्रतिदिन तीन से चार ग्राम त्रिफला के चूर्ण का सेवन रात को सोते समय दूध के साथ कर लें|

आंखों के लिए फायदेमंद

यह आंखों के लिए भी फायदेमंद होता है| इसके चूर्ण को पानी में डालकर आंखों को धोने से आंखों से संबंधित सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी| मोतियाबिंद, आंखों की जलन, आंखों का दोष और लंबे समय तक आंखों की रोशनी को बनाए रखने के लिए 10 ग्राम गाय के घी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से लाभ मिलता है|

कब्ज से राहत

त्रिफला का चूर्ण कब्ज के लिए फायदेमंद होता हो| खानपान और तनाव भरे माहौल में ज्यादातर लोग कब्ज व शारीरिक सुस्ती से ग्रस्त रहते हैं| ऐसे लोगों को त्रिफला का सेवन नियमित गुनगुने पानी के साथ करना चाहिए|

सिरदर्द दूर भगाए

त्रिफला, हल्दी, चिरायता, नीम की छाल और गिलोय को मिलाकर बनें मिश्रण को आधा किलो पानी में पकाने के बाद इसे छानकर कुछ दिन तक सुबह व शाम के समय गुड़ या शक्कर के साथ सेवन करें| ऐसा करने से सिरदर्द से राहत मिलेगी|

मोटापे से राहत

मोटापे की समस्या से ग्रस्त लोगों के लिए त्रिफला का सेवन बहुत फायदेमंद होता है| त्रिफला चूर्ण को पानी में अच्छे से उबालकर, शहद मिलाकर पीने से शरीर की चर्बी कम होती है|

सावधान : कई बार त्रिफला की अधिक मात्रा नुकसान भी दे सकती है|

Share.