website counter widget

image1

image2

image3

image4

image5

image6

image7

image8

image9

image10

image11

image12

image13

image14

image15

image16

image17

image18

‘विकी डोनर’ बनने से पहले जरूर पढ़ें ये 5 बातें

0

आयुष्मान खुराना स्टारर फिल्म ‘विकी डोनर’ साल 2012 में रिलीज़ हुई थी| फिल्म का कंटेंट इतना सॉलिड था कि दर्शक इस फिल्म को देखने के लिए अपने आप को रोक नहीं पाए| फिल्म में आयुष्मान खुराना ने एक स्पर्म डोनर की भूमिका निभाई थी| इस फिल्म के आने के बाद युवाओं में स्पर्म डोनेट करने का क्रेज बढ़ गया| हाल ही में एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि पूरे विश्व भर में लगभग 2 मिलीयन से ज्यादा लोग बच्चे ना होने की वजह से ग्रसित हैं| इस वजह से स्पर्म डोनर (Sperm Doner) की डिमांड भी दिनों दिन बढ़ती जा रही है| आइए जानते हैं स्पर्म डोनर बनने से पहले किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए|

स्पर्म डोनेट (Sperm Doner) करने के लिए आवश्यक होती है यह 5 शर्तें

Image result for vicky donor

#1  स्पर्म डोनेट  (Sperm Doner) करने वाले को किसी भी प्रकार की गुप्त रोग या फिर मानसिक बीमारी नहीं होनी चाहिए| तभी वह स्पर्म डोनेट कर सकता है|

Image result for Sperm Donor

#2 जो व्यक्ति स्पर्म डोनेट करना चाहता है, उसकी आयु 40 वर्ष से कम होनी चाहिए| 40 वर्ष से अधिक उम्र के पुरुष का स्पर्म नहीं लिया जाता है|

Image result for Sperm Donor

#3 यदि आप स्पम डोनर (Sperm Doner) बनना चाहते हैं तो आपकी लंबाई भी अच्छी रहनी चाहिए| यदि आप की लंबाई कम है तो आपका स्पर्म नहीं लिया जाता| क्योंकि यदि आपकी लंबाई कम है तो आपके स्पर्म से पैदा होने वाली संतान की लंबाई भी कम ही होगी| इसके अलावा स्किन. आंखों और बालों का रंग, वजन पर भी ध्यान दिया जाता है|

Image result for Sperm Donor

#4 स्पर्म बैंक द्वारा डोनर के एचआईवी, हेपेटाइटिस, डायबिटीज जैसे कई टेस्ट करवाए जाते हैं| टेस्ट के बाद डोनर (Sperm Doner) का स्पर्म लेकर 6 महीने तक ऑब्जर्वेशन पर रखते हैं| सब कुछ ठीक रहा तो 6 महीने बाद दोबारा टेस्ट होते हैं| इसी के साथ डोनर का फैमिली बैकग्राउंड, एजुकेशन, कैरेक्टर, फैमिली की मेडिकल हिस्ट्री और आदतों को भी चैक किया जाता है|

Image result for Sperm Donor

#5 स्‍क्रीनिंग होने के बाद यदि डोनर को स्‍पर्म (Sperm Doner) देने के लिए हां बोल दिया जाता है तो उसे सैम्‍पल देना पड़ता है| इस सैम्‍पल हस्‍तमैथुन के द्वारा दिया जा सकता है| इससे स्‍पर्म काउंट का पता चल जाता है और स्‍पर्म डोनेट करने से 5 दिन पहले स्‍पर्म सैम्‍पल देने से स्‍पर्म की क्‍वालिटी भी अच्‍छी होती है| -ह्रदय

ऐसे बच्चे को है गर्भ में हृदय रोग का खतरा

देर रात खाना खाने वालों के लिए अच्छी खबर

खर्राटों से मुक्ति का आसान तरीका

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.