इस औषधि के सेवन से कभी नहीं आएगा बुढ़ापा

0

दुनिया में कोई भी इंसान ऐसा नहीं होगा जो कि बूढ़ा होना चाहता हो। हर व्यक्ति यही चाहता है कि वह हमेशा जवान और एक्टिव रहे। हालांकि कोई भी यहां अमरत्व लेकर नहीं आया है और उम्र बढ़ने के साथ ही हर व्यक्ति का बुढ़ापा आता है। इस समय व्यक्ति कमज़ोर हो जाता है और हर वक़्त एक्टिव नहीं रह पाता। यह आज के दौर में तो और भी मुश्किल काम है लेकिन प्राचीन समय में लोग बुढ़ापे में भी काफी ताकतवर और शारीरिक रूप से मजबूत रहते थे। इसके लिए वे आयुर्वेद (Ayurveda) का सहारा लेते थे।

आयुर्वेदिक मुलेठी हानिकारक भी है!

आयुर्वेद शास्त्र (Ayurvedic Science) में हर प्रकार की शारीरिक समस्याओं (Physical Problems) का निदान बताया गया है जिसके इस्तेमाल से हर रोग से छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको एक ऐसी बेहद ही चमत्कारी आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic Medicine) के बारे में बताने जा रहे है जो बूढ़े को भी जवान बना देती है। इस प्राचीन औषधि का नाम पुनर्नवा (Punarnava) है जिसका जिक्र आयुर्वेद शास्त्र में किया गया है। इस औषधि के बारे में आयुर्वेद शास्त्र में कहा गया है कि यह कमज़ोर व्यक्ति के लिए अमृत के समान है। इतना ही नहीं पुनर्नवा (Punarnava) कैंसर रोगियों के लिए भी किसी अमृत से कम नहीं है। इसके सेवन से कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी भी ठीक हो जाती है। ऐसा कहा जाता है कि जो व्यक्ति एक चम्मच पुनर्नवा (Punarnava) के रस का सेवन रोजाना नियमित रूप से अपनी सब्जी में मिलाकर करता है, उसे कभी भी बुढ़ापा नहीं आता।

दिल को रखना है स्वस्थ तो पर्याप्त नींद है जरूरी

पुनर्नवा (Punarnava) का सेवन व्यक्ति के शरीर को हमेशा ही जवान बनाकर रखता है। यह औषधि व्यक्ति के शरीर में उत्पन्न बीमारी की जड़ पर असर करता है। व्यक्ति के शरीर के अंदर मौजूद सारे विषाक्त पदार्थों को यह औषधि बाहर निकाल देती है। छोटी से छोटी बीमारी को भी जड़ से ख़त्म कर पुनर्नवा (Punarnava) व्यक्ति के शरीर को काफी मजबूत बना देती है। इसी वजह से इसके सेवन करने वाले व्यक्ति को कभी भी बुढ़ापा नहीं आता।

Gadgets के दीवाने पढ़ें यह ख़बर

Share.