website counter widget

पैसे न होने पर भी इलाज करने से डॉक्टर नहीं कर सकते मना

0

अगर आपको कोई गंभीर बीमारी है और आप अपना इलाज करना चाहते हैं लेकिन धन के आभाव में नहीं करवा पा रहे हैं तो अब आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है। दरअसल गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीज का उपचार करना डॉक्टरों की लीगल ड्यूटी है। अगर कोई मरीज़ जो गभीर बीमारी से पीड़ित है और किसी अस्पताल या क्लिनिक पर पहुंचता है तो डॉक्टर को पूरी सतर्कता के साथ उसका इलाज करना होगा।

ऐसे में यदि मरीज के पास इलाज के पैसे नहीं हों तब भी डॉक्टर इलाज करने से मना नहीं कर सकता। अगर कोई डॉक्टर या अस्पताल मरीज का इलाज करने से मना करते हैं तो उन पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। मरीज कानून का सहारा लेकर ऐसे डॉक्टर या अस्पताल को अच्छा सबक सिखा सकते हैं।

खुशखबरी : मुफ्त में मिल रहा 1000 जीबी डाटा, ऐसे उठाएं फायदा

दरअसल भारतीय संविधान में हर व्यक्ति को उपचार पाने का मौलिक अधिकार प्रदान किया गया है। यह मौलिक अधिकार संविधान की धारा 21 के तहत दिया गया है। उपचार पाना हर व्यक्ति का अधिकार है। एक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ परमानंद कटारा बनाम यूनियन ऑफ इंडिया के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि, “कोई भी डॉक्टर या अस्पताल गंभीर रूप से घायल मरीज का उपचार करने से इंकार नहीं कर सकता है।”

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि डॉक्टर और अस्पताल की यह लीगल ड्यूटी है कि वह गंभीर बीमारी से पीड़ित या गंभीर रूप से घायल मरीज को इमरजेंसी मेडिकल केयर तत्काल उपलब्ध कराएं। इतना ही नहीं सर्वोच्च न्यायालय द्वारा यह भी कहा था कि यदि इलाज के लिए मरीज के पास पैसे नहीं हैं तब भी डॉक्टर या अस्पताल उसका उपचार करने मना नहीं करेंगे और न ही इलाज में किसी तरह की कोई देरी करेंगे।

TRAI Rules 2019 : बुरी खबर, टीवी देखना होगा और महंगा

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि डॉक्टर की प्राथमिकता मरीज का तत्काल उपचार करने की होनी चाहिए। एक डॉक्टर को तत्काल ही मरीज का उपचार कर उसकी जान बचानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के अलावा इंडियन मेडिकल काउंसिल के प्रोफेशनल कंडक्ट रेगुलेशन ने भी कहा कि कोई भी डॉक्टर मरीज का इलाज करने से मना नहीं कर सकता और उसे इलाज करना ही होगा।

अगर कोई डॉक्टर या अस्पताल इलाज करने से मना करता है तो इसे प्रोफेशनल मिसकंडक्ट माना जाएगा। ऐसा किए जाने पर उस डॉक्टर या अस्पताल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

रेलवे यात्री ध्यान दें, महंगी हुई ऑनलाइन टिकट बुकिंग

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.