website counter widget

कई रोगों से बचा सकता है पान खाना

0

पान खाना किसे पसंद नहीं है | भोजन करने के बाद यदि पान मिल जाए तो मज़ा ही अलग हो जाता है | हमारे बुजुर्ग हमें कहते हैं कि पान खाने से दांत ख़राब होते हैं तो हम आपको बता देते हैं कि  पान खाना (Health Benefits Of Chewing Paan) तभी सही नहीं होता जब इसमें स्वाद और सुगंध के लिए हानिकारक चीजें मिला ली जाती हैं। वैसे तो इनके बहुत से आयुर्वेदिक गुण हैं। पान के पत्तों का प्रयोग प्राचीन काल से औषधीय रूप में भी किया जाता है।

Gadgets के दीवाने पढ़ें यह ख़बर

Health Benefits Of Chewing Paan :

यदि पान के पत्तों को चूने-कत्थे के बजाय अन्य चीजों के साथ मिला कर खाया जाए तो ये सेहत के लिए फायदेमंद हो जाती है। पान के पत्ते शरीर में होने वाले कई रोगों से बचा सकते हैं।

दांतों की बीमारी से लेकर सर्दी जुकाम, सिरदर्द और थकान कमजोरी तक में ये बहुत फायदेमंद होते हैं। आइए आज पान के इन गुणों के बारे में जानें।

सुस्ती, थकान और अनिद्रा से राहत

पान के पत्तों में इलायची, पिपरमिंट, लौंग,गुलकंद या शहद मिलाकर खाएं। ये आपकी थकान, सुस्ती और नींद न आने की समस्याओं को दूर कर देंगे।

तरबूज का सेवन इन लोगों के लिए हो सकता है जानलेवा

मसूड़ों और दांतों के दर्द को करता है सही

अगर आपको मसूड़ों में समस्या है या दांतों में दर्द हो तो आप पान के पत्तों में दस ग्राम कपूर मिला लें। पान के पत्ते हरे होने चाहिए पीले नहीं। अब इन पत्तों को खूब चबा-चबा कर खा जाएं। ये आपकी समस्या को दूर कर देंगे। ये पायरिया रोग में भी बहुत कारगर है।

सिर में अगर हो जाए दर्द

जिस किसी को भी बार-बार सिरदर्द की समस्या होती है उन्हें इसके पत्ते को अपने सिर पर लगाना चाहिए। अगर दर्द ज्यादा हो तो आप इसके रस को पीस कर भी माथे पर लगा सकते हैं।

Green Coffee Benefits : मोटापे का टेस्टी इलाज ग्रीन कॉफी

जोड़ों के दर्द या चोट लगने पर

अगर आपके जोड़ों में दर्द रहता हो या आपको चोट लग गई हो तो आपको पान के पत्ते को घी लगाकर तवे पर गर्म करना चाहिए और उसे गर्म गर्म ही चोट या दर्द वाली जगह पर सिकाई करनी चाहिए। इससे बहुत लाभ होता है।

सांस की बीमारी या सीने में जकड़न हो तो

सांस लेने में दिक्कत हो या सीने में जकड़न हो गई हो तो आप उसे घी या तेल लगे पान के पत्ते को गुनगुना सेंक कर सीने पर रखें। इससे कफ पिघल जाएगी और सीना हल्का होगा। इसके बाद सीने को किसी गर्म कपड़े से ढक कर ही रखें।

जुकाम होने पर भी खाएं

जुकाम होने पर पान के पत्तों में लौंग डालकर खाएं। अगर ज्यादा कड़वा लगे तो आप इसमें धागे वाली मिश्री मिला सकते हैं।

छाले पड़ने पर खूब खाएं पान

अगर मुंह में छाले पड़ गए हों तो पान खाना चाहिए। लेकिन इस पान में केवल घी लगी होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त कुछ भी न लगाएं।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.