website counter widget

election

डेंगू से नहीं घबराएं, यह उपाय आजमाएं

0

मौसम बदलते ही बीमारियां शुरू हो जाती हैं| वायरल फीवर, डेंगू और मलेरिया जैसी न जाने कितनी ही बीमारियों के कारण हम परेशान रहते हैं| अभी अक्टूबर महीने में केवल राजधानी दिल्ली से डेंगू के 169 नए मामलों की पुष्टि हो चुकी है| यह लगातार फैलता जा रहा है| इस बीमारी के कारण लोग डरे हुए हैं, लेकिन यह समय डरने का नहीं बल्कि सावधानी रखने का होता है| हम कुछ आसान उपायों को अपनाकर डेंगू से बच सकते हैं|

बकरी का दूध

आयुर्वेद में बकरी के दूध को बहुत गुणकारी माना जाता है| बकरी का दूध डेंगू के बुखार से निजात दिलाने के लिए लाभदायक होता है|

गिलोय का रस

गिलोय का आयुर्वेद में बहुत महत्व है| एक कप पानी में 1 चम्मच गिलोय का रस मिलाकर पीने से बहुत लाभ होता है| यदि इसमें अदरक को मिलाकर पानी को उबालें और काढ़ा बनाएं और 5 दिन तक पीएं तो भी लाभ मिलेगा|

हल्दी वाला दूध या हल्दी वाला पानी

यदि आप डेंगू से पीड़ित हैं तो खाने में हल्दी का उपयोग ज्यादा करें| आप हल्दी को गर्म पानी के साथ या दूध के साथ ले सकते हैं| वहीं यदि आप जुकाम या कफ से पीड़ित हैं तो दूध न लें| ऐसे में बेहतर होगा कि हल्दी वाला पानी ही लें|

तुलसी के पत्ते

डेंगू से निजात पाने के लिए तुलसी के पत्ते भी लाभदायक होते हैं| इसके लिए कुछ पत्तों को पानी में उबालें| आप चाहे तो उसमें काली मिर्च या अदरक भी डाल सकते हैं| जब पानी आधा रह जाए तो काढ़े को हल्का गर्म पीएं| सुबह- शाम यह काढ़ा पीने से लाभ मिलेगा|

पपीते के पत्ते

ऐसा कहा जाता है कि पपीते के पत्ते डेंगू को कम करते हैं| इसे खाने से बॉडी से फ्लूइड लीक नहीं होने देता और व्हाइट ब्लड सेल्स और प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ती है| जैसे ही यह पता चले कि मरीज डेंगू से पीड़ित है तो उसे पपीते के पत्ते का रस देना शुरू करें| अभी तक इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं दिखाई दिया है|

Share.