website counter widget

खर्राटों से मुक्ति का आसान तरीका

0

सोने का तरीका भी आपकी सेहत पर अनुकूल और प्रतिकूल असर डाल सकता है | स्लीपिंग पोजिशन जो आपको पसंद है उससे आपको अच्छी नींद जरूर आएगी किन्तु वह आपके लिए नुकसान दायक भी हो सकती है | आयुर्वेद इस बारे में कहता है कि स्लीपिंग पोजिशन जो आपको अच्छी नींद के साथ साथ सेहत भी भी दे वो ही आदर्श स्थिति है | आयुर्वेद के अनुसार लेफ्ट साइड पर यानी बाईं तरफ सोना जिसे वामकुशी भी कहते हैं बेस्ट स्लीपिंग पोजिशन या आदर्श अवस्था कहा गया है |

बाईं तरफ सोने से कैसे रहती है सेहत ठीक-
-हमारा दिल बाईं तरफ होता है, जब हम बाईं करवट से सोते हैं तो ग्रैविटी की मदद से हार्ट की तरफ लसिका की निकासी (lymph drainage) सरल रहती है | ऐसे सोने से दिल के काम करने का बोझ कुछ कम हो जाता है| दिल कि सेहत के लिए आप इसे अपनाये |
-बाईं तरफ सोने से ग्रैविटी की मदद से शरीर के अंदर मौजूद वेस्ट बड़ी आसानी से छोटी आंत से बड़ी आंत में पहुंच जाता | सुबह सोकर उठने पर आप फ्रेश होने में तकलीफ का सामना नहीं करेंगे | पाचन तंत्र को इससे बेहद फायदा है |
-बाईं तरफ सोने से आपके खर्राटे कम हो जाएंगे और खर्राटे बंद भी हो सकते है |
-बाईं तरफ सोने से आपकी जीभ और कंठ, दोनों न्यूट्रल पोजिशन में रहते हैं |
-इससे आपके एयरवेज क्लियर साफ रहते है और सांस लेने में आसानी होती हैं|
-विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती महिलाओं जो बाईं तरफ सोती है उन्हें इसका लाभ पीठ पर पड़ने वाले प्रेशर के कम होने में मिलता है |
-गर्भाशय और फीटस तक ब्लड फ्लो भी बढ़ता है|
-बाईं तरफ करवट लेकर सोने से प्लैसेंटा तक पोषक तत्वों का बहाव आसानी से होता है|

इस तरह से आप सिर्फ अपने सोने की आदत में चेंज लेकर आसनी से कई तरह की बीमारियों से बच सकते है | सेहतमंद रहने के लिए भी बाईं तरफ करवट लेकर सोने की आदत आपकी सहायता करती है |

अभिषेक

कम नींद के घातक परिणाम

हमेशा हेल्दी रखेगा यह नया डाइट प्लान

चोट के सूजन और दर्द निवारण के घरेलु उपाय

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.