website counter widget

सर्दियों में बढ़ जाता है स्ट्रोक का खतरा, ऐसे बचें

0

सर्दियों का मौसम आ गया है, ऐसे मौसम में कई बीमारियों की शुरुआत भी हो जाती है| ठंड के मौसम में ब्लड को दिमाग तक पहुंचने में परेशानी आती है, ऐसे में दिमाग की कोशिकाएं मरने लगती है, जिससे ब्रेन स्ट्रोक आने की आशंका बढ़ जाती है| इसके कारण दिमाग में ब्लड क्लॉट भी बन सकता है| जब दिमाग में सही मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है तो इससे ब्रेन हैमरेज हो सकता है| यह बहुत खतरनाक होता है|

कई बार मरीज को पता भी नहीं चलता है कि वह ब्रेन स्ट्रोक का शिकार बन रहा है| ऐसे में जब मामला बहुत बढ़ जाता है, तब मरीज को बीमारी के बारे में पता चलता हो, तब तक बहुत देर दो जाती है| आज हम आपको कुछ लक्षण बता रहे हैं, जिनसे आप भी जान पाएंगे कि क्या आप भी इस बीमारी की चपेट में हैं|

– व्यक्ति को अचानक शरीर के किसी एक भाग में कमजोरी महसूस हो|

– किसी चीज को समझने या बोलने में परेशानी हो|

– मांसपेशियों का विकृत हो जाना|

– कम दिखाई देना|

– हाथों का एकदम से सुन्न हो जाना या नीचे की ओर लटक जाना|

– यदि आपको चलने में मुश्किल हो, चक्कर आए या फिर कमजोरी महसूस हो तो डॉक्टर से संपर्क करना ही चाहिए|

– लगातार सिरदर्द होना भी इसका एक लक्षण है|

यदि आप भी इन लक्षणों से परेशान हैं तो डॉक्टर के पास जाकर जांच ज़रूर करवानी चाहिए| विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दियों में नसें सिकुड़ जाती हैं और ब्लड गाढ़ा होने से शरीर में इसके संचरण के लिए इसे पंप करने में अधिक मेहनत करनी पड़ती है|

ऐसे करें बचाव

सर्दियों में स्ट्रोक के खतरे से बचने के लिए मानसिक शांति का ध्यान रखना चाहिए| इस मौसम में नियमित व्यायाम करने के साथ-साथ धूम्रपान और शराब के सेवन से भी बचना चाहिए| हृदय रोगी और डाइबिटीज के रोगी सावधानी बरतें| सोडियम का अधिक मात्रा में सेवन न करें|

Share.