website counter widget

अधिक हीमोग्‍लोबिन के घातक परिणाम

0

हीमोग्‍लोबिन लाल रक्‍त कोशिकाओं में पाएं जाने वाला एक प्रोटीन है जिसमे आयरन का एक अणु होता है | हीमोग्‍लोबिन के कमी और अधिकता दोनों सेहत के लिए सही नहीं है | हीमोग्‍लोबिन की अधिकता के कई नुकसान है |हीमोक्रोमेटोसिस (रक्त वर्णकता) का खतरा बढ़ जाता है | रक्‍त में हीमोग्‍लोबिन में मौजूद आयरन का स्‍तर बढ़ जाता है तो उसे हीमोक्रोमेटोसिस कहा जाता | हीमोग्‍लोब‍िन की मात्रा एक वयस्‍क महिला में 12 से 16 ग्राम होना जरुरी होता है| किशोरी में 11.7 से 13.8 हीमोग्‍लोबिन होना चाहिए | पुरुष में 14 से 18 ग्राम हीमोग्‍लोबिन और किशोर में 12.4 से 14.9 ग्राम हीमोग्‍लोबिन होना चाहिए |

Image result for हीमोग्‍लोबिन

डीहाइड्रेशन की वजह से हीमोग्‍लोबिन बढ़ने की समस्‍या होती है | हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ने पर आपकी दिमागी क्षमता भी प्रभावित होती है | शरीर से अक्सर ब्लीडिंग होती है जैसे नाक से खून निकलना या फिर दांतों की जड़ों, मसूड़ों से खून आना हीमोग्‍लोबिन बढ़ने के संकेत माने जा सकते है | पेट का भरा हुआ होना , पेट में दर्द होना, धुंधला दिखाई ,हल्का सिर दर्द भी हीमोग्लोबिन के बढ़ने के कारण हो सकता है।

Image result for हीमोग्‍लोबिन

शरीर में जब हीमोग्लोबिन बढ़ता है तो यह काफी नुकसान देता है | इससे आप मधुमेह , त्वचा का रंग बदलना, यकृत को नुकसान , और कैंसर जैसी बीमारी भी हो सकती है |  ऐसे में आप भोजन से मिलने वाले लोह तत्व के आलावा आयरन टेबलेट और अन्य सप्लीमेंट्स का उपयोग न करें या इनसे परहेज करें |महिलाओं को इस हेतु ज्यादा सावधानियां रखने की जरुरत है | क्योकि डॉक्टर्स के अनुसार यह गंभीर रूपों में सामने आने पर बाँझपन तक का कारण बन सकता है |

अभिषेक

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.